धर्मशाला, जागरण संवाददाता। क्षेत्रीय अस्पताल धर्मशाला में कायाकल्प प्रोत्साहन कार्यक्रम के अंतर्गत एक समारोह का आयोजन किया गया। वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी डॉ. राजेश गुलेरी ने बताया कि कायाकल्प कार्यक्रम के अंतर्गत अस्पतालों में हर वर्ष कुछ मापदंड़ों पर आकलन किया जाता है और प्रोत्साहन के रूप में 25 लाख रुपए की राशि दी जाती है। इसी कड़ी में 2015 तथा 2019 में जोनल अस्पताल, धर्मशाला ने पूरे राज्य में प्रथम स्थान प्राप्त किया था।

 उन्होंने बताया कि इन सब उपलिब्धयों के कारण अस्पताल के पूरे स्टाफ को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य इस समारोह का आयोजन किया गया। उन्होंने कहा कि भविष्य में भी सभी अधिकारी एवं कर्मचारी इसी प्रकार कार्य करें ताकि आने वाले समय में भी यह अस्पताल सभी मापदण्डों पर सही उतरे। अस्पताल प्रशासन को पूरी उम्मीद है कि इस साल में कायाकल्प का प्रदेश पुरस्कार जोनल अस्पताल धर्मशाला को ही मिलेगा। इसके लिए बहुत अधिक बदलाव करने की जरुरत नहीं है। अस्पताल में सभी सुविधाएं एवं उपकरण मौजूद हैं। इस सुविधाओं का सही तरीके से औैर समय समय पर सदुयोग किया जाए तो इस साल का कायाकल्प पुरस्कार भी धर्मशाला अस्पताल तक ही मिलेगा।

प्रोत्साहन कार्यक्रम के दौरान जिला कोविड अस्पताल धर्मशाला में सेवाएं देने वाले स्टाफ एवं कोराेना योद्धाओं को अस्पताल प्रबंधन की ओर से सम्मानित किया गया। इस दौरान करीब 25 कोरोना योद्धाओं को सम्मानित किया गया। सम्मानित किए गए वह लोग थे, जोकि जिला कोविड अस्पताल धर्मशाला में सेवाएं देने हुए कोरोना पाॅजिटिव हुए। इसके बाद जब वह स्वस्थ हुए तो दोबारा उन्होंने अस्पताल में सेवाएं दीं। इस अवसर पर जिला चिकित्सा अधिकारी डॉ. विक्रम कटोच, स्टेट प्रोग्राम ऑफिसर अनादि गुप्त सहित अस्पताल के सभी अधिकारी एवं कर्मचारी उपस्थित थे।

Edited By: Richa Rana