कांगड़ा, जागरण संवाददाता। कांग्रेस की वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा सदस्य विप्लव ठाकुर ने कहा कि गगल स्थित कांगड़ा हवाई अड्डे का विस्तार होना चाहिए, इससे क्षेत्र का विकास होगा। कांगड़ा में शुक्रवार को मां बज्रेश्वरी के दरबार में माथा टेकने के बाद राज्यसभा सदस्य ने हवाई अड्डे के विस्तार के विरोध को गलत बताया। कांगड़ा हवाई अड्डे का विरोध नहीं करना चाहिए। अगर इसका विस्तार होता है तो इस क्षेत्र का भी विकास होगा। युवाओं के लिए रोजगार के नए रास्ते निकलेंगे। जो लोग इस विस्तार से विस्थापन में आ रहे हैं उन्हें प्राथमिकता के आधार पर बसाया जाए और जो भी उनका हक व मुआवजा बनता है वह दिया जाए।

विप्लव ठाकुर ने कहा कि जब बुलेट ट्रेन चलाने के लिए केंद्र सरकार ऋण ले सकती है तो कांगड़ा घाटी में अलग से रेलवे लाइन डालने के लिए भी बजट दे सकती है। यहां की भौगोलिक परिस्थितियों को देखते हुए विस्तार किया जाए। पहले अंग्रेजों ने पठानकोट से जोगेंद्रनगर तक अपनी जरूरत के लिए रेललाइन बिछाई थी तब तकनीक इतनी अधिक विकसित नहीं थी।

वर्तमान में तकनीक अधिक विकसित है, अब वह सब कुछ संभव है जो पहले सोच भी नहीं सकते थे। उन्होंने बताया कि फोरलाइन के संबंध में केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी से बात हुई थी। शिमला से बिलासपुर व बिलासपुर से मटौर तक फोरलेन बनाया जाए। इससे पहले माता बज्रेश्वरी देवी के दर्शन के दौरान वरिष्ठ पुजारी उमेश शर्मा व राम प्रसाद ने उन्हें मां के इतिहास के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

एयरपोर्ट विस्तार के मुआवजे पर सरकार संवेदनशील : परमार

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि गगल में हवाई अड्डे का विस्तार सामरिक और पर्यटन की दृष्टि से अधिक महत्वपूर्ण है। हवाई अड्डे के विस्तार से विस्थापित होने वाले लोगों की मांग पर उन्होंने कहा कि लोगों के विस्थापन और मुआवजे पर संवेदनशीलता से विचार किया जा रहा है। गगल में बड़ा हवाई अड्डा बनने से प्रदेश में पर्यटन क्षेत्र का व्यापक विस्तार होगा और इस क्षेत्र में लोगों को स्वरोजगार के अवसर भी प्राप्त होंगे।

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस