धर्मशाला, जेएनएन। धर्मशाला में जो भी सरकार दूसरी राजधानी लाएगी, मैं स्वयं उसका का स्‍वागत करूंगा। पूर्व मंत्री जीएस बाली धर्मशाला में पत्रकारों के एक सवाल के जवाब में बाेल रहे थे। उन्होंने कहा जिस कांग्रेस कार्यकाल में दूसरी राजधानी की अधिसूचना जारी हुई थी, तब भी मैंने इस फैसले का स्वागत किया था और अब भी मैं इसके पक्ष में हूं। पत्रकारों को संबोधित करते हुए उन्होंने भाजपा के दो साल के कार्यकाल पर भी सवाल खड़े किए। उन्‍होंने कहा केवल एक जिला में विकास हो रहा है, जबकि कांगड़ा संसदीय क्षेत्र ही नहीं हमीरपुर व ऊना से भी भेदभाव किया जा रहा है। जहां तक केंद्रीय विश्वविद्यालय की बात है तो केवल शिलान्यास कर दिया गया है, लेकिन उसके बाद कुछ नहीं हुआ।

मौजूदा समय में कांग्रेस कार्यकाल में शुरू हुए 35 प्रोजेक्ट बंद पड़े हैं। उन्होंने कहा इन्वेस्टर मीट में प्रधानमंत्री के आने की बात की जा रही है, जब सीयू का शिलान्यास बड़े स्तर पर हुआ तो उस पर काम होना चाहिए था। कांग्रेस कार्यकाल में शुरू हुए विभिन्न मेडिकल कॉलेज व अन्य प्रोजेक्टों पर पहले कार्य शुरू हुआ, जबकि भवन निर्माण की औपचारिकताएं बाद में पूरी की गई। हालांकि विधानसभा चुनाव में बड़े-बड़े वादे किए गए थे, लेकिन आज हालात बद से बदतर हैं।

बेरोजगारी दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। हिमाचल में ही बेरोजगारों का आंकड़ा 10 लाख पहुंच गया है। वहीं मौजूदा उपचुनाव में एक सीट के लिए पूरी सरकार धर्मशाला में आकर बैठ गई है और सरकारी तंत्र का दुरुपयोग किया जा रहा है। इस मौके पर पूर्व प्रदेशाध्यक्ष सुक्खविंद्र सुक्खू, चंद्रेश कुमारी, विप्लव ठाकुर समेत अन्य वरिष्ठ नेता भी मौजूद रहे।

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस