शिमला, जेएनएन। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने सोमवार को शिमला में लॉकडाउन के दौरान अन्य राज्यों से घर आने वाले हिमाचलियों का डाटा बेस तैयार करने के लिए सूचना प्रौद्योगिकी विभाग की ओर से विकसित स्किल रजिस्टर का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि विभिन्न कंपनियों और औद्योगिक घराने भी इस पोर्टल पर आवश्यकताओं को दर्ज कर सकते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस पोर्टल के माध्यम से राज्य में लौटे लोग अपनी शैक्षिक योग्यता, कौशल और नौकरी की आवश्यकताओं के संबंध में जानकारी अपलोड कर सकते हैं। जयराम ठाकुर ने कहा कि यह पंजीकरण मोबाइल नंबर और आधार नंबर पर आधारित होगा और लोगों को एसएमएस के माध्यम से सूचित किया जाएगा।

कौशल के बारे में रिपोर्ट जिलावार, शैक्षिक योग्यता वार और कार्य अनुभव के अनुसार तैयार की जाएगी। मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव जेसी शर्मा ने मुख्यमंत्री का स्वागत करते हुए कौशल रजिस्टर की मुख्य विशेषताओं की विस्तारपूर्वक जानकारी दी। कौशल विकास निगम के प्रबंध निदेशक रोहन चंद ठाकुर ने इस अवसर पर एक प्रस्तुति दी।

अंतरराज्य सीमाओं पर एक ही चेक पोस्ट से प्रवेश के निर्देश

अंतरराज्य सीमा पर एक ही चेक पोस्ट से प्रवेश का निर्देश जारी किया गया है। राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन के अनुसार बाहरी राज्यों से आने वालों का डाटा रखने और कोरोना से सबसे अधिक प्रभावित तेरह स्थानों से आने वालों को संस्थागत क्वारंटाइन में रखने को कहा है। इनमें मुंबई, चेन्नई, अहमदाबाद, ठाणे, पुणे, हैदराबाद, थिरुवेलूर, कोलकाता का हावड़ा, इंदौर, जयपुर, जोधपुर और दक्षिण पश्चिम दिल्ली शामिल है।

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस