धर्मशाला, जेएनएन। मुख्यमंत्री कांगड़ा जिला के प्रवास के तीसरे दिन शुक्रवार को इंदौरा हलके के दौरे पर पहुंचने के दौरान गंगथ कस्बा में विधायक रीता धीमान और पूर्व विधायक मनोहर धीमान ने एक साथ स्‍वागत किया। सीएम ने दोपहर बाद जनसभा को संबोधित करते हुए हिमाचल में चार और गोशाला खोलने की घोषणा की। सीएम ने कहा ज्‍वालामुखी, पालमपुर, जयसिंहपुर और जवाली में गोशाला के लिए दो-दो करोड़ जारी किए जाएंगे। सचिवालय के लिए आठ करोड़, सड़क बाई पराल के लिए 12 करोड़, 35 करोड़ 80 गांवो के लिए जल आपूर्ति के लिए दिए जारी करने की घोषणा की गई। सोन खड्ड के तटीकरण के लिए 17.5 करोड़ की घोषणा की।

सीएम ने त्योरा में स्वास्थ्य उपकेंद्र को प्राथमिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र बनाने की घोषणा की। कंदरोड़ी स्कूल में साइंस की कक्षाएं, डिग्री कॉलेज इंदौरा में एमएसी कक्षाएं, मनवाल जट्टा से मंदोली सड़क के लिए एक करोड़, इंदपुर से से डाकि वाया धंतोल सड़क के लिए 40 लाख, बडूखर में कांगरी पुल को पूरा करने की घोषणा की। सीएचसी गंगथ को सिविल अस्‍पताल करने की घोषणा की। सीएम ने पुलवामा शहीदों को याद करते हुए और भारत माता की जय के साथ अपने भाषण को विराम दिया।

इससे पूर्व सीएम ने कहा वह तीन दिन से शीतकालीन सत्र के दौरान लोगों से मिल रहे हैं। गर्मजोशी से स्वागत करने के लिए इंदौरा निवासियों का धन्यवाद है। एक विधानसभा क्षेत्र में 65 करोड़ के शिलान्यास किए गए। 50-50 करोड़ के बैजनाथ और पालमपुर में शिलान्‍यास किए। ये आंकड़े उनके पास पहुंचने चाहिएं, जो बोलते हैं कि हम कुछ नहीं करते हैं।

अब तक 2 साल के कार्यकाल में प्रधानमंत्री तीन बार हिमाचल आए, जिसमें से दो बार कांगड़ा जिला में आए। वो भी वक्‍त याद करना चाहिए पूरे कार्यकल के दौरान पिछली सरकारों में माननीय मनमोहन सिंह सिर्फ एक बार आए थे। केंद्र सरकार ने दो वर्ष में हिमाचल सरकार को 10 हजार करोड़ रुपये दिए। विकास की गति जब थम गई थी तब हमने गति दी। हिमाचल छोटा राज्य होने चलते भी कई बड़े राज्यों से आगे निकल गया है। सीएम ने कहा जनमंच में पहली पंक्ति पर बैठने वाले लोग कांग्रेस के ही होते हैं, क्योंकि उनको पता है समस्याओं का निपटारा यहीं होगा। सीएम हेल्पलाइन शुरू करने वाला हिमाचल 5वां राज्य है।

उन्‍होंने इंदौरा विधानसभा क्षेत्र के पलाहघाट में 4.52 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित होने वाली 20 किलोमीटर लंबी जसूर-गंगथ-इंदौरा सड़क की आधारशिला रखी, इससे 15 गांवों को लाभ मिलेगा। इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री बहु ग्रामीण पेयजल योजना के अधीन 34.82 करोड़ की कुल लागत वाली की छह पेयजल योजनाओं की आधारशिला रखी। इन योजनाओं से 'हर घर को नल से जल स्कीम' के तहत इंदौरा क्षेत्र के 80 गांवों में 2140 नल लगाए जाएंगे। यह सभी योजनाएं दिसंबर, 2022 से पूर्व पूर्ण रूप से जनता को समर्पित कर दी जाएंगी।

सीएम जयराम ठाकुर इंदौरा बैरियर से मिनी सचिवालय के शिलान्यास के लिए खुली जीप में सवार होकर गए। इस बीच पूर्व कांग्रेस मंत्री दिवंगत बिक्रम कटोच के बेटे सुधीर कटोच ने इंदौरा में अपने आवास के बाहर जयराम ठाकुर का स्वागत किया। मुख्‍यमंत्री ने पूर्व मंत्री स्वर्गीय विक्रम सिंह कटोच के घर रुके व परिवार से मिले।

मुख्यमंत्री ने इंदौरा में 12.82 करोड़ की लागत से बनने वाले मिनी सचिवालय की आधारशिला भी रखी। मुख्यमंत्री ने वाई-इंदौरियां में 12.63 करोड़ की लागत से बनने वाले 19 किलोमीटर लंबे वाई-इन्दौरियां-मण्ड मियानी-पराल रोड का शिलान्यास किया। इसके अतिरिक्त मुख्यमंत्री वाई-अटारियां स्थित गौसदन में 70 लाख रुपये की लागत से विकसित होने वाले कार्यों का शिलान्यास किया।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस