धर्मशाला, दिनेश कटोच। मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर का कहना है कि कांगड़ा हवाई अड्डे का विस्तार पूरे क्षेत्र के लिए खुशहाली का कारण बनेगा। दैनिक जागरण से उन्होंने कहा कि इसके लिए इतनी मेहनत आज तक नहीं हुई। प्रधानमंत्री कार्यालय से नागरिक उड्डयन मंत्रालय तक कितनी बार बातचीत हुई, इसका अंदाजा लगाना कठिन है। बकौल मुख्यमंत्री, 'मैं केवल इतना चाहता हूं कि हवाई अड्डे के विस्तार में केवल हवाई पट्टी नहीं बढ़ती बल्कि सोच, समृद्धि, संभावना और संसाधन भी बढ़ते हैं। अगर विकास हो रहा है तो उसका स्वागत होना चाहिए, न कि उसे लेकर विरोधी स्वर आएं।'

मुख्यमंत्री कहते हैं, 'देहरादून दूर नहीं है, उसे देखिए। उनका हवाई अड्डा भी छोटा था...आज 26 उड़ानें हैं। ये सब हिमाचल प्रदेश में क्यों नहीं हो सकता? कांगड़ा हमारे लिए राजनीतिक और सामाजिक रूप से बहुत महत्वपूर्ण जिला है। इसका विकास हमारी प्राथमिकता है।'

क्या कहीं नाराजगी की बात आ रही है? मुख्यमंत्री का कहना है...नाराजगी न मुझे है, न किसी क्षेत्र को। हल्की सी बात यह कही थी कि आज तक केवल कागजों पर जो इन्वेस्टर्स मीट होती थी, हमने धर्मशाला के धरातल पर की। दो बार प्रधानमंत्री धर्मशाला आ गए। फिर  विकास के कार्य में हम संबल की अपेक्षा क्यों न करें? हम प्रयास कर रहे हैं कि न टोपी की राजनीति हो, न क्षेत्र की। टोपी का रंग कोई भी हो, विकास का रंग ही असली रंग है। उसके रंग में भंग नहीं होना चाहिए।

बहरहाल, कांगड़ा में सरकार का शीतकालीन प्रवास बेशक देर से शुरू हुआ लेकिन रिवायत बरकरार रही। तपोवन में विधानसभा सत्र के बाद यही मौका था जब मुख्यमंत्री लगातार तीन दिन तक जिला कांगड़ा के विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों में रहे। इस बीच अगर कुछ नया है तो वह उनका पहले से अधिक मुखर होना।

तीन दिवसीय प्रवास के दौरान मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने विपक्ष पर तीखे प्रहार किए और कहीं जनता को सुनाया कि विकास का विरोध उचित नहीं। विपक्ष के लिए संदेश है कि शराफत का अर्थ हर आरोप को झेल जाना नहीं है। इस बीच वह हर जगह संंतुलन बनाते भी नजर आए। पहले चरण के प्रवास में सरकार दो वर्ष के कार्यकाल को लेकर पूरी तरह से फ्रंटफुट पर रही।

18 फरवरी से होगा दूसरा प्रवास

मुख्यमंत्री का दूसरे चरण का शीतकालीन प्रवास 18 फरवरी से ज्वालामुखी से शुरू होगा। वह 19 फरवरी को देहरा हलके में जाएंगे। इस बीच, जनमंच पर कांग्रेस के सवालों का जवाब भी दिया गया। मुख्यमंत्री के अनुसार, जनमंच की पहली पंक्ति में कांग्रेस के ही लोग आगे होते हैं क्योंकि कांग्रेस जानती है यहां बिना भेदभाव समाधान होंगे।

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस