नगरी, कार्तिक शर्मा। धौलाधार प्रकृति उद्यान एवं चिड़ियाघर गोपालपुर में अब चिंकारे का जोड़ा आएगा। एनिमल एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत ये जानवर लाए जाएंगे। इसके तहत ही भालुओं का जोड़ा चौधरी सुरेंद्र सिंह भिवानी चिड़ियाघर (हरियाणा) भेजा गया है। गोपालपुर चिड़ियाघर के प्रभारी एवं वन्य परिक्षेत्र अधिकारी हेमराज ने बताया कि एक नर व मादा भालू भिवानी जू भेजे हैं। नर का नाम दुक्कु है और उसकी उम्र साढ़े पांच वर्ष है। मादा का नाम प्रीतो है और वह वयस्क है। गोपालपुर चिड़ियाघर में पहले सात भालू थे और इनमें चार नर और तीन मादा थीं।

बकौल हेमराज, किसी भी चिड़ियाघर में किसी भी प्रजाति के जानवर का कम से कम एक जोड़ा होना आवश्यक होता है। भिवानी चिड़ियाघर से आई टीम में शामिल डॉक्टर अशोक खासा, र¨वद्र कुमार व वीरभान भालुओं को लेकर गई है। प्रभारी ने बताया कि जैसे ही बाड़ा सही हो जाएगा तो टीम भिवानी चिड़ियाघर जाएगी और वहां से ¨चकारे का जोड़ा ले आएगी। चिंकारा आने से चिड़ियाघर का आकर्षण और अधिक बढ़ेगा। 

भावुक हुए दुक्कु और प्रीतो को पालने वाले सरवन कुमार

पशु अनुचर (भालू बाड़ा) सरवन कुमार ने दोनों भालुओं (प्रीतो और दुक्कु) को तबसे पाला है जब दुक्कु मात्र तीन और प्रीतो छह माह की थी। ऐसे में उनकी विदाई पर सरवन कुमार भावुक हो गए। बकौल सरवन, सारी उम्र भालुओं के साथ बिताई है और इन्हें बच्चों की तरह पाला है। उन्होंने कहा कि एनमिल एक्सचेंज प्रोग्राम के तहत जानवरों का आदान-प्रदान किया जाता है।

क्या है चिंकारा

हिरण प्रजाति का यह शर्मिला प्राणी है और इंसानी आबादी से बचकर रहता है। बिना पानी यह लंबे समय तक रह सकता है। अमूमन यह अकेला रहना पसंद करता है। कई बार एक से चार चिंकारा झुंड में भी देखे जाते हैं। इसकी ऊंचाई कंधे तक 65 सेमी. होती है और वजन 23 किलो तक होता है। गर्मियों में इसकी खाल का रंग लाल-भूरा होता है और पेट तथा अंदरूनी टांगों का रंग हल्का भूरा व सफेद होता है। सर्दियों में यह रंग और गहरा हो जाता है। आंख के किनारे से नथुनों तक एक काली धारी होती है जिसके किनारे में सफ़ेद धारी होती है। सींग 31 सेमी. तक लंबे होते हैं। राजस्थान का यह राज्य पशु है। सूखे क्षेत्रों में यह पाया जाता है।  

शिकार के कारण सुर्खियों में आया था चिंकारा 

हम साथ-साथ हैं फिल्म की शूटिंग के दौरान मशहूर अभिनेता सलमान खान समेत अन्य अदाकारों पर काले हिरण और चिंकारा हिरण का शिकार करने का आरोप लगा था। करीब दो दशक पहले फिल्म की शूटिंग के दौरान फिल्म उद्योग से जुड़े अदाकारों पर राजस्थान में काले हिरण और चिंकारा के शिकार के आरोप लगे थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस