चंबा, संवाद सहयोगी। Chamba Roomal, चंबा रूमाल को जल्द नई पहचान मिलने वाली है। चंबा में बना महात्मा गांधी का चित्रयुक्त चंबा रूमाल जल्द साउथ अफ्रीका में शान बढ़ाने जा रहा है। नाट आन मैप संस्था की ओर से चंबा रूमाल को साउथ अफ्रीका भेजने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। चंबा से रूमाल भेजे जाने के बाद साउथ अफ्रीका में संस्था की सदस्य सुंदरा रेड्डी इसे प्राप्त करेंगी, जिसके बाद इसे स्थापित करने की प्रक्रिया की जाएगी।

आजादी के अमृत महोत्सव को लेकर भूरी सिंह संग्रहालय में नाट आन मैप संस्था की ओर से कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इसमें उपायुक्त डीसी राणा ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की। चंबा के क्रिकेटरों ने हाथों में तिरंगा लिए भारत माता की जय व वंदे मातरम नारों से माहौल देशभक्तिमय बना दिया।

उपायुक्त की ओर से सरस्वती स्वयं सहायता समूह की महिलाओं अनामिका, लता, नीलम, पल्लवी, चंद्रेश एवं कमला नैयर की देखरेख में तैयार किए गए राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के चित्रयुक्त चंबा रूमाल का विमोचन किया गया। स्वयं सहायता समूह से जुड़ी महिलाओं की प्रशंसा करते हुए कहा जिस तरह से महिलाओं की ओर महात्मा गांधी की तस्वीर युक्त चंबा रूमाल उकेरा गया है, वह प्रशंसनीय है। यह रूमाल जब साउथ अफ्रीका में सजेगा तो इस कला को अंतरराष्ट्रीय तौर पर एक अलग पहचान मिलेगी। उन्होंने नाट आन मैप संस्था की भी सराहना की।

क्‍या कहते हैं संयोजक

नाट आन मैप संस्था के सह संयोजक एवं चंबा क्रिकेट संघ के जिला संयोजक मनुज शर्मा ने कहा कि चंबा रूमाल तैयार करने की कला को विश्व पटल पर नई पहचान दिलाने के लिए स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के साथ मिलकर कार्य किया जा रहा है। साउथ अफ्रीका में इसे स्थापित करने को लेकर प्रयास तेज किए हैं। इस अवसर पर भूरी सिंह संग्रहाल्याध्यक्ष सुरेंद्र, जिला क्रिकेट संघ की ओर से हमीद खान, सुनील, मिथुन ठाकुर, इमरान सहित खिलाडिय़ों ने अपनी उपस्थिति दर्ज करवाई।

Edited By: Virender Kumar