भले ही वीरवार को बारिश थमी लेकिन नुकसान का सिलसिला जारी रहा। नूरपुर केवार्ड चार में एक मकान की दीवार गिर गई। साथ ही कोटला में भूस्खलन से एक मकान खतरे की जद में आ गया है। धार्मिक नगरी ज्वालामुखी में अर्जुन नागा व टेढ़ा मंदिर को जाने वाली सीढि़यों का एक हिस्सा भूस्खलन के कारण ध्वस्त हो गया। प्रशासन ने इन सीढि़यों से आवाजाही पर प्रतिबंध लगा दिया है। इंदौरा उपमंडल के मंड क्षेत्र में संपर्क मार्ग टूटने से लोगों की दिक्कत बढ़ गई हैं।

....................

नूरपुर के वार्ड चार में मकान की दीवार गिरी

संवाद सहयोगी, नूरपुर : नूरपुर के वार्ड चार में राजस्व विभाग की कालोनी के समीप वीरवार को एक महिला के मकान की दीवार जमींदोज हो गई। पीड़िता सुकन्या देवी को घर का सामान पड़ोसियों के मकान में रखना पड़ा है। फिलहाल वह स्वजन के साथ क्षतिग्रस्त मकान में रह रही हैं। नगर परिषद अध्यक्ष अशोक शर्मा ने प्रशासन से मांग की है कि पीड़ित महिला को तुरंत आर्थिक सहायता प्रदान की जाए। तहसीलदार सुरभि नेगी ने बताया कि पटवारी की रिपोर्ट मिलने के बाद पीड़िता को आर्थिक सहायता प्रदान की जाएगी।

........................

मंड क्षेत्र में संपर्क मार्ग बहने से बढ़ी दिक्कत

संवाद सूत्र, इंदौरा : मंड क्षेत्र में उलेहड़िया से मियानी, तेयोड़ा से मंड मझवाह, ठाकुरद्वारा से मलकाना, वरोटा से पराल व बेला लुधियाड़चा से टाढे कटवाल संपर्क मार्गो को नुकसान हुआ है। पानी के तेज बहाव में अस्थायी छोटी पुलियां बह गई हैं। अब लोगों को गंतव्य तक पहुंचने के लिए परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। फतेहपुर व इंदौरा की सीमा पर स्थित व पंजाब के साथ लगती पंचायत रियाली के गांव बेलालुधियाड़चां के बाशिंदों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

......................

कोटला में भूस्खलन से मकान को खतरा

संवाद सूत्र, कोटला : ग्राम पंचायत कोटला में कई स्थानों पर भूस्खलन हुआ है। वीरवार को भूस्खलन के कारण रमन कुमार के मकान को खतरा पैदा हो गया है। इसके अलावा पठानकोट-मंडी राष्ट्रीय राजमार्ग पर कोटला में विश्राम गृह के पास डंगा गिरा गया है।

.....................

ज्वालामुखी में टेढ़ा मंदिर को जोड़ने वाली सीढि़यों का हिस्सा ध्वस्त

संवाद सहयोगी, ज्वालामुखी : अर्जुन नागा व टेढ़ा मंदिर को जाने वाली सीढि़यों का एक हिस्सा वीरवार को भूस्खलन के कारण ढह गया। अब सीढि़यों को बंद कर दिया है। छोटे मंदिरों व मुख्य मंदिर जाने के लिए अब वैकल्पिक रास्ता पुराना बाजार से होकर बनाया गया है। मंदिर अधिकारी निर्मल सिंह ने बताया कि अब श्रद्धालु वैकल्पिक मार्ग से इन मंदिरों में जा सकेंगे।

Edited By: Jagran