जेएनएन, धर्मशाला। राफेल सौदे पर न्यायालय द्वारा भाजपा सरकार को मिली क्लीन चिट के बाद भाजपा ने कांग्रेस व उसके राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के खिलाफ ही अब इस हथियार का रूख किया है। भाजपा का कहना है कि पिछले दस वर्षों में क्यों नहीं कांग्रेस राफेल की खरीद को लेकर कोई निर्णय ले पाई ? क्या इतने वर्षाें में राफेल की खरीद को लेकर कमीशन का इंतजार किया जाता रहा और क्या इसलिए ही देश के सैनि‍कों को यह हथियार नहीं दिए गए? धर्मशाला में आयोजित एक पत्रकार सम्मेलन मे भाजपा के राष्ट्रीय सच‍िव तरूण चुग ने कहा कि छह दशकों से देश को लूटने वाले आज देश के चौकीदार को ही चोर कह रहे हैं।

यहां तक कि कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को रक्षा मंत्री, मंत्रालय के अधिकारियों और प्रधानमंत्री द्वारा राफेल की खरीद को लेकर बनाई गई कमेटी पर ही विश्वास नहीं है। जबकि कांग्रेस शासनकाल में यह डील कंपनी व सरकार के बीच हो रही थी और अब यह डील सरकार और सरकार के बीच हुई है। भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री तरूण चुग ने कहा कि देश की सुरक्षा से जुड़े मामलों पर राजनीति नहीं होनी चाहिए, लेकिन कांग्रेस अब ऐसी ही राजनीति पर भी उतारू है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अपने इतिहास के अपने अब तक सफर के निम्न स्तर पर है और वही मामलों को भी उठाने को लेकर भी उसकी हालात ऐसी ही है।

भाजपा सरकार सदन में भी राफेल के सौदे को लेकर चर्चा करने को तैयार है। कांग्रेस को झूठी कहानियां बनाने की कंपनी करार देते हुए कहा कि झूठ का व्याख्यान करने में कांग्रेस सबसे अागे है और झूठ की कंंपनी के राहुल गांधी निर्देशक हैं। उन्होंने कहा कि राफेल के सौदे पर उंगली उठाकर राहुल गांधी ने देव व वीर भूमि के उन जवानों का भी अपमान किया है, जिन्होंने कारगिल ही नहीं बल्कि कई अन्य युद्धों में देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों की आहूति दी है। इस अवसर पर खाद्य आपूर्ति मंत्री किश्न कपूर, भाजपा प्रदेश महामंत्री कृपाल परमार, प्रदेश सह मीडिया प्रभारी राकेश शर्मा भी मौजूद रहे।

Posted By: Munish Dixit

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस