पालमपुर, जेएनएन। भारतीय जनता पार्टी जनजातीय मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष त्रिलोक कपूर ने सोमवार को केंद्रीय जनजाति विकास मंत्री अर्जुन मुंडा से भेंट कर जनजातीय वर्ग से संबंधित समस्याओं पर चर्चा की। उन्होंने गैर जनजातीय क्षेत्रों में रहने वाले समुदाय के लोगों के समुचित विकास के लिए केंद्रीय मंत्री से विशेष बजट का प्रावधान करने की मांग की। वहीं इस समुदाय के लिए राज्य आधारित योजना अनुसार नीति बनाने की भी मांग की।

उन्होंने प्रदेश के भेड़पालकों की व्यथा सुनाते हुए कहा कि भेड़पालक वर्ष के 12 महीने ही अपने परिवार से अलग थलग जीवन यापन करते हैं। इस दौरान भारी बर्फबारी व कड़कती धूप में प्रदेश की जनता को आर्गेनिक तत्वों से भरपूर बकरी का दूध, खाद व मीट की आपूर्ति प्रदेश के भेड़पालक पूरी कर रहे हैं। वहीं ऊन का उत्पादन कर प्रदेश की आर्थिकी में भी बढ़ावा कर रहे हैं। त्रिलोक कपूर ने केंद्रीय मंत्री से कहा कि कठिन जीवन व्यतीत कर रहे भेड़पालकों को यदि भारत सरकार अच्छी किस्म के टेंट, गर्म वर्दी, मजबूत बूट, लालटेन जैसी बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध करवा दे तो निश्चित रूप से भेड़पालक स्वावलंबन और स्वरोजगार के लिए भेड़पालन को अपनाएंगे।

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस