धर्मशाला, जागरण संवाददाता। कांगड़ा संसदीय क्षेत्र से भाजपा के किशन कपूर ने रिकॉर्ड मतों से जीत दर्ज की है। कपूर प्रदेश के अन्य तीनों संसदीय क्षेत्रों से ऐसे अकेले सांसद बने हैं, जिन्होंने 477623 मतों से प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस के पवन काजल को हराया है। संसदीय क्षेत्र में आजाद व अन्य दलों से संबंधित प्रत्याशी पांच हजार का आंकड़ा भी पार नहीं कर पाए हैं। संसदीय क्षेत्र के तहत जिला कांगड़ा कपूर की जीत का गवाह बना है। साथ चंबा जिले से भी किशन कपूर को एक लाख से अधिक मतों की लीड मिली है। जिला कांगड़ा के संगठनात्मक जिलों की बात करें तो नूरपुर से सबसे अधिक सवा लाख मतों की लीड मिली है।

इसके अलावा विधानसभा क्षेत्रों में भाजपा को शाहपुर से सबसे अधिक 36120 मत प्राप्त हुए हैं। दूसरे नंबर पर नूरपुर से 35170 वोट हासिल हुए हैं। नूरपुर के दो बूथों कलांगन व समलेट में तो कांग्रेस अपना खाता तक नहीं खोल पाई है। संसदीय क्षेत्र में 15847 मतदाताओं ने पोस्टल बैलेट के माध्यम से मतदान किया है। इनमें से 13085 किशन कपूर के पक्ष में पड़े हैं, जबकि 132 कर्मचारियों ने पोस्टल बैलेट में नोटा पर मुहर लगाई है। कांगड़ा संसदीय क्षेत्र में 11 प्रत्याशी चुनाव मैदान में थे। इनमें से भाजपा के किशन कपूर तो लाखों की बढ़त लेकर जीत गए और कांग्रेस के पवन काजल महज तीन लाख वोट प्राप्त करने में कामयाब नहीं हो सके। इसके अलावा अन्य प्रत्याशी पांच हजार का आंकड़ा भी पार नहीं कर सके हैं। किशन कपूर को हर विधानसभा क्षेत्रों में लीड मिली है पर अपने गृह विधानसभा क्षेत्र धर्मशाला से सबसे कम 18685 वोटों की लीड मिली। इसके अलावा अन्य विस क्षेत्रों में लीड का मार्जन 20 हजार से अधिक रहा है।

11327 ने दबाया नोटा

संसदीय क्षेत्र के मतदाताओं में रोष भी देखने को मिला है। इसका अंदाजा इससे लगाया जा सकता है कि 11327 ने नोटा का बटन दबाया है। नोटा का इस्तेमाल सभी विधानसभा क्षेत्रों में किया गया है। शाहपुर हलके से भाजपा को सबसे अधिक लीड मिली है और नोटा का बटन भी यहां ही सबसे अधिक दबाया गया है।

नगरोटा बगवां में बाली ने बचाई कांग्रेस की लाज

संसदीय क्षेत्र में कांग्रेस को जहां बुरी तरह से हार का सामना करना पड़ा है लेकिन नगरोटा बगवां विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस के पक्ष में सबसे ज्यादा मतदान हुआ है। अकेले नगरोटा बगवां हलके में ही कांग्रेस के पक्ष में 19 हजार लोगों ने मतदान किया है। इसके अलावा कांग्रेस की पंजाब प्रभारी एवं विधायक आशा कुमारी के विधानसभा क्षेत्र डलहौजी में कांग्रेस के पक्ष में महज 9166 वोट पड़े हैं।

किस विधानसभा क्षेत्र में कितनी लीड

  • हलका भाजपा कांग्रेस नोटा भाजपा लीड
  • चुराह 37, 172 13, 754 667 23, 418
  • चंबा 41, 195 12, 672 895 28, 523
  • डलहौजी 37, 588 9,166 811 28, 422
  • भटियात 38, 775 8,802 220 29, 973
  • नूरपुर 48, 567 13, 397 910 35, 170
  • इंदौरा 45, 900 16, 680 619 29, 520
  • फतेहपुर 44, 541 13, 035 533 31, 506
  • जवाली 77, 589 18, 585 573 29, 004
  • ज्वालामुखी 40, 884 11, 974 474 28, 910
  • जयसिंहपुर 34, 727 15, 076 406 19, 651
  • पालमपुर 34, 511 15, 122 589 19, 189
  • बैजनाथ 41, 934 12, 012 599 29, 922
  • नगरोटा बगवां 42, 549 19, 410 724 23, 139
  • कांगड़ा 41, 053 17, 470 561 23, 582
  • शाहपुर 47, 588 11, 204 932 36, 384
  • सुलह 50, 274 18, 814 623 31, 460
  • धर्मशाला 37, 286 18, 601 677 18, 685

किस प्रत्याशी को मिले कितने वोट

भाजपा के किशन कपूर 7,25,218 मत, पवन काजल कांग्रेस को 2,47,595, बसपा के डॉ. केहर सिंह 8,866, पीसी विश्वकर्मा नवभारत एकता दल 2,371, डॉ. स्वरूप राणा स्वाभिमान पार्टी 959, सुभाष चंद हिमाचल जन क्रांति पार्टी 970, चन्द्रभान (बाबला) निर्दलीय 564, कर्नल नरेंद्र पठानिया निर्दलीय 908, निशा कटोच अखिल भारतीय हिंदू महासभा 1398, बचन सिंह राणा निर्दलीय 2240, डॉ. संजीव गुलेरिया निर्दलीय 4573 मत मिले।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप