धर्मशाला, जागरण संवाददाता। फतेहपुर विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस व आप से पार्टी से चेहरे साफ हैं। लेकिन भाजपा में अभी तक स्थिति साफ नहीं है। यहां पर आप पार्टी ने डा. राजन सुशांत को अपना प्रत्याशी घोषित कर अपनी चुनावी गतिविधियां शुरू कर दी हैं। वहीं कांग्रेस से भवानी पठानिया का नाम तय है ,बस अब उनके यहां से पार्टी प्रत्याशी हाेने की घोषणा होना बाकि है। इन दोनों दलों के बीच भाजपा अभी तक अपना प्रत्याशी यहां से तय नहीं कर पाई है। क्योंकि फतेहपुर में भाजपा से टिकट के चाह्वानों की सूचि लंबी है। यहां पहले से ही चुनाव लड़ चुके कृपाल परमार व बलदेव ठाकुर एक बार फिर से अपनी टिकट की पैरवी कर रहे हैं तो उनके जगदेव ठाकुर व पंकज हैप्पी भी अपनी चुनाव जात ठोके हुए हैं।

फतेहपुर में अपने ही नेताओं के खिलाफ चुनाव मैदान में उतरने व सही ढंग से काम न करने की वजह से कांग्रेस के सिर पर ही पिछले कई वर्षों से जीत का सेहरा सजता रहा है, और भाजपा खाली हाथ रही है। कांग्रेस से यहां पर सुजान सिंह पठानिया विधायक बनते रहे थे। उनकी मृत्य के बाद उनके बेटे पर कांग्रेस ने भरोसा जताते हुए उपचुनाव में उन्हें प्रत्याशी बनाया था, और उन्होंने अपने पिता की तरह जीत को बरकरार रखते कांग्रेस की झोली में यह सीट डाली थी।

इस बार भी भवानी ही यहां से कांग्रेस का चेहरा होगे, लेकिन भाजपा में अभी टिकट को लेकर आपसी जंग जारी है। भाजपा के मुख्य रूप से चार चेहरों में इस बार किसे टिकट मिलती है, इसे लेकर खुद भाजपा नेता पशोपेश में हैं। हालांकि उनके द्वारा अपने-अपने स्तर पर लोगों के साथ अपना जन संपर्क अभियान शुरु किया हुआ है। पर एक बात साफ है कि अगर फतेहपुर में भापजा की आपसी लड़ाइ का यही हाल रहा तो परिस्थतियां पार्टी के लिए कोई अच्छी नहीं रहने वाली हैं।

Edited By: Richa Rana