जितेंद्र मेहता, रोहड़ू। उपमंडल रोहड़ू की चिडग़ांव तहसील के तहत बरशील गांव आज भी सड़क सुविधा से नहीं जुड़ पाया है। 50 परिवारों के करीब 250 लोगों की आबादी वाला यह गांव भौगोलिक रूप से पब्बर नदी के उस पार बसे होने कारण मुख्य सड़क के दायरे में न आने से अब तक संपर्क सड़क सुविधा से नहीं जुड़ सका है।

प्रदेश सरकार ने रोहडू उपमंडल के हर गांव तक सड़क पहुंचाने का प्रयास किया है। वहीं बरशील के ग्रामीणों के प्रयास व मांग के बावजूद कांग्रेस सरकार के समय में पूर्व मुख्यमंत्री स्व. वीरभद्र ङ्क्षसह के दौरे के दौरान इस गांव को भी सड़क सुविधा देने की सौगात मिली थी। जिस पर अमल करते हुए लोक निर्माण विभाग की ओर से तुरंत कार्रवाई करते हुए सड़क की कङ्क्षटग का काम शुरू हुआ। जो कुछ महीनों के बाद करीब डेढ़ किलोमीटर के बाद आज दिन तक बंद पड़ा है।

पुल निर्माण के लिए 2019 में की गई थी 30 लाख की घोषणा

गांव के साथ लगने वाली पब्बर नदी पर पुल की आवश्यकता को देखते 2019 में रोहडू दौरे के दौरान मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने पुल निर्माण के लिए शुरुआती काम के लिए 30 लाख रुपये देने की घोषणा की थी। लेकिन विभाग इस कार्य को शुरू करने में अब तक केवल टेंडर की औपचारिकताओं तक ही पहुंच पाया है। काम शुरू होने में कितना वक्त और लगेगा इस बारे में अभी तक कोई जानकारी नहीं है।

पैदल चलना भी खतरे से खाली नहीं

सड़क सुविधा से वंचित इस गांव के लोगों को जहां सेब सीजन के लिए खच्चरों, मजदूरों व तार स्पैनों का सहारा लेना पड़ रहा है, वहीं आपातकालीन परिस्थितियों में बीमार लोगों को सड़क तक पहुंचाना सबसे बड़ी चुनौती बना हुआ है। वहीं गांव के लोग इससे पहले जिन पैदल रास्तों पर चल रहे थे वे भी सड़क निर्माण के मलबे से खतरे भरे हो गए हैं।

ग्रामीणों ने सरकार से सड़क व पुल निर्माण की मांग रखी

बरशील गांव के ग्रामीणों संतोष, अमृत, गुरुदेव, बलवंत, देविंद्र, रमेश, जोङ्क्षगद्र, जवाहर लाल, रंजीत, देवभगत, महेंद्र व पदम नेगी ने सरकार से इस सड़क व पुल के निर्माण को लेकर गंभीरता से काम करने की मांग की हैं।

बरशील गांव को सड़क सुविधा से जोडऩे को लेकर लोक निर्माण विभाग प्राथमिकता से काम करने को लेकर तैयार है। इस गांव को सड़क सुविधा के साथ एक पुल बनाने का मसौदा तैयार है। इसमें पुल निर्माण के लिए टेंडर की प्रक्रिया को पूरा कर लिया गया है। जल्द ही पुल निर्माण का काम शुरू होगा। वहीं विभाग की ओर से दो किलोमीटर लंबी इस सड़क के 75 फीसद हिस्से की कङ्क्षटग भी हुई है। शेष कङ्क्षटग व वाहन योग्य बनाने को लेकर काम जल्द शुरू होगा।

- दुनी चंद चौहान, सहायक अभियंता लोक निर्माण विभाग मंडल चिडग़ांव।

Edited By: Neeraj Kumar Azad