कांगड़ा जिले में जागरूकता अभियान से अब कोरोना नियंत्रण में है। हालांकि संक्रमण के मामले रोजाना आ रहे हैं लेकिन इनकी संख्या ज्यादा नहीं है। जागरूकता के साथ-साथ वैक्सीन भी बड़ा हथियार है जो कोरोना की बढ़ती रफ्तार रोकने में सफल रहा है। जिले में अब तक 16,62,354 लोगों को कोरोना की पहली व दूसरी वैक्सीन लगाई जा चुकी है। साथ ही प्रशासन जिले के अति दुर्गम क्षेत्र बड़ा भंगाल में भी लोगों को वैक्सीन लगा चुका है। पिछले दो सप्ताह से इसका असर जिले में देखने को मिला है। अब संक्रमण दर के साथ-साथ मौत का आंकड़ा भी कम हुआ है।

....

अब तक 1078 की मौत

जिले में कोरोना संक्रमण से अब तक 1078 लोगों की मौत हो चुकी है। पिछले दो सप्ताह के आंकड़ों को देखें तो पांच, सात, आठ, नौ, 10 व 11 सितंबर के बाद कोरोना से किसी की भी मौत नहीं हुई है। यह सुखद है कि कोरोना से मौत का आंकड़ा पहले से काफी कम हुआ है।

....

बड़ा भंगाल भी पहुंची थी टीम

जिले केअति दुर्गम क्षेत्र बड़ा भंगाल में भी वैक्सीनेशन के लिए प्रशासन व स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची थी। दो दिन के अभियान में बड़ा भंगाल में 108 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज लगाई गई थी। अब यहां 84 दिन बाद दूसरी डोज लगाई जाएगी।

...

पहली व दूसरी डोज का कितना लक्ष्य पूरा

अब तक जिले में 16,62,354 लोगों को वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी है। 11,68,308 को पहली व 4,94,046 को दूसरी डोज लगाई गई है। पहली डोज का करीब 95 फीसद से ऊपर लक्ष्य पार कर लिया है जबकि दूसरी डोज के तहत 43 फीसद को वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

.............

रंग लाया जागरूकता अभियान

कोरोना वैक्सीन के लिए हर दिन सेंटर बढ़ाए गए हैं। साथ ही पंचायतों में जागरूकता अभियान छेड़ा गया है। क्षेत्रीय अस्पताल धर्मशाला में भी वैक्सीन सेंटर बनाया गया है। यहां पहले कोविड सेंटर था।

..........

दो सप्ताह में यह रही स्थिति

चार सितंबर को जिले में 64 लोग संक्रमित हुए थे। पांच से 11 सितंबर तक संक्रमित मामलों में रोजाना कमी आई है। 11 सितंबर तक महामारी की चपेट में आए लोगों की संख्या 35 रह गई। इसके बाद 12 से 19 सितंबर तक कुल संक्रमितों के मामले नौ तक पहुंच गए हैं। हालांकि कुल सक्रिय मामले अबतक 361 ही है।

...

शोध में यह पाया गया है कि जिन लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज लगाई जा चुकी हैं, उनमें संक्रमण का खतरा कम ही होता है। अगर ऐसे लोग संक्रमित हो भी जाएं तो स्थिति इतनी गंभीर नहीं होती है कि अस्पताल में दाखिल होना पड़े। साथ ही मृत्यु की संभावना भी न के बराबर रह जाती है। सभी से अनुरोध है कि वैक्सीन जरूर लगवाएं। साथ ही शारीरिक दूरी बनाए रखें और मास्क भी जरूर पहनें।

-डा. गुरदर्शन गुप्ता, मुख्य चिकित्सा अधिकारी।

......

प्रशासन ने लोगों को कोरोना से बचाने के लिए वैक्सीनेशन अभियान छेड़ा है। बड़ा भंगाल में वैक्सीन की पहली डोज लगाई गई है। दूसरी डोज का लक्ष्य भी पूरा किया जा रहा है। लोगों से आग्रह है कि वे वैक्सीन जरूर लगवाएं।

-डा. निपुण जिंदल, उपायुक्त, कांगड़ा -प्रस्तुति: दिनेश कटोच, धर्मशाला

Edited By: Jagran