धर्मशाला, जेएनएन। केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को लताड़ लगाते हुए साफ किया है कि मेरी बैठक में चल रहा है नहीं चलेगा। बैठक में तथ्यों सहित ही पहुंचे, क्योंकि मैं सबसे पहले पिछली बैठक में तय किए गए तथ्यों पर ही जानकारी लूंगा और उसके बाद ही अगले एजेंडे पर बात होगी। दिशा की बैठक में स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं की समीक्षा के दौरान शुरुआत में ही सीएचसी हरिपुर के भवन को लेकर उठे सवाल पर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी की ओर से जवाब न दिए जाने पर अनुराग ने तेवर तल्ख करते हुए हिदायत दे डाली। साथ ही अधिकारी को दो घंटें के भीतर स्थिति स्पष्ट करने का निर्देश भी दिया।

यही नहीं इसी दौरान नगरोटा बगवां के विधायक अरूण मेहरा के पठियार व सेराथाना पीएचसी के एक-एक कमरे में मौजूदा समय में चले होने और इस मामले में मुख्यमंत्री कार्यालय को पत्र लिखे जाने के बाद भी कोई कार्रवाई न होने परभी संज्ञान लिया। इसके अलावा नगरोटा बगवां व बड़ोह अस्पताल के मामले में भी स्थिति स्पष्ट किए जाने की मांग उठाई गई। जिस पर अनुराग ने कहा कि प्रदेश में मुख्यमंत्री कार्यालय से बड़ा कोई कार्यालय नहीं है और मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जारी दिशा-निर्देशों का ही पालन न होना चिंता का विषय है।

Edited By: Rajesh Kumar Sharma