धर्मशाला, जेएनएन। हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड की ओर से संचालित करवाई जा रही 10वीं व जमा दो कक्षाओं की वार्षिक परीक्षाओं की उत्तर पुस्तिकाओं का मूल्यांकन कार्य भी सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में होगा। शिक्षा बोर्ड ने इस कार्य के लिए 53 मूल्यांकन केंद्र बनाए हैं और वहां कैमरे लगा दिए हैं। मूल्यांकन कार्य की गतिविधियों पर बोर्ड में स्थापित कंट्रोल रूम से निगरानी होगी। मूल्यांकन 25 मार्च से शुरू होगा।

बोर्ड अध्यक्ष डॉ. सुरेश कुमार सोनी ने बताया कि प्रदेश के 1980 केंद्रों में वार्षिक परीक्षाओं का संचालन किया जा रहा है। सभी परीक्षा केंद्रों में सीसीटीवी कैमरे स्थापित किए गए हैं। प्रदेश शिक्षा बोर्ड सभी केंद्रों में सीसीटीवी कैमरे स्थापित करने वाला देश का पहला बोर्ड बना है। साथ ही हिमाचल देश का पहला राज्य बन गया है, जहां नकल रोकने के लिए इस तरह के प्रयास किए जा रहे हैं। बोर्ड अध्यक्ष ने सभी स्कूल मुखियों को निर्देश जारी किए हैं कि हर स्कूल प्रबंधन को परीक्षाओं के दौरान हुई रिकॉर्डिंग कम से कम तीन माह के लिए सुरक्षित रखनी होगी। बोर्ड कभी भी किसी भी स्कूलों से रिकॉर्डिंग मंगवा सकता है।

अगर किसी ने रिकॉर्डिंग डलीट की होगी तो स्कूल मुखिया पर कार्रवाई की जाएगी। किन्नौर, भरमौर व पांगी में प्रेक्टिकल परीक्षाएं 25 से किन्नौर और जिला चंबा के भरमौर व पांगी उपमंडल में संचालित की जा रही दसवीं की वार्षिक परीक्षाओं में कंपार्टमेंट की परीक्षा दे रहे अभ्यर्थियों की प्रेक्टिकल परीक्षाएं 25 मार्च से होंगी। इसके अलावा जमा दो की दो अप्रैल से शुरू होंगी।

बोर्ड ने प्रेक्टिकल परीक्षाओं के लिए शेड्यूल जारी कर दिया है। बोर्ड अध्यक्ष डॉ. सुरेश कुमार सोनी ने बताया कि लिखित परीक्षा के बाद आंतरिक तौर पर प्रेक्टिकल परीक्षाएं होंगी। दसवीं की विज्ञान विषय की प्रेक्टिकल परीक्षा 25 और 26 मार्च, एलेक्टिव सबजेक्ट (कला, आइटी) की 27 मार्च को प्रेक्टिकल परीक्षा होगी। जमा दो 2 अप्रैल : फिजिक्स 3 अप्रैल : केमिस्ट्री 4 अप्रैल : बायोलॉजी/ह्यूमन इकोलॉजी 5 अप्रैल : कंप्यूटर साइंस 6 अप्रैल : भूगोल 8 अप्रैल : संगीत -दो से आठ अप्रैल तक शारीरिक शिक्षा, योग और लेखांकन की प्रेक्टिकल परीक्षा होगी।