जेएनएन, कांगड़ा। हिमाचल में स्वाइन फ्लू का कहर थम नहीं रहा है। डॉ. राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल टांडा में जिला ऊना के गगरेट निवासी की मौत हो गई। पेशे से कामगार व्यक्ति कुछ दिन से यहां उपचाराधीन थे। इससे पहले सोमवार को इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल (आइजीएमसी) शिमला में 90 वर्षीय महिला की स्वाइन फ्लू से मौत हो गई थी।

प्रदेश में सोमवार को स्वाइन फ्लू के सात मामले पॉजिटिव पाए गए थे। आइजीएमसी में स्वाइन फ्लू के 23 सैंपल लिए गए। इनमें से पांच मामले पॉजिटिव पाए गए। रोगी शिमला के आसपास के इलाकों के हैं। चंबा जिला में सात साल का बच्चा स्वाइन फ्लू से पीडि़त पाया गया है। यह बच्चा पंडित जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज चंबा में उपचाराधीन है। शुक्रवार को परिजन उसे बीमार होने पर मेडिकल कॉलेज लाए थे। बच्चे में स्वाइन फ्लू के लक्षण दिखने पर उसका ब्लड सैंपल जांच के लिए शिमला भेजा गया था, उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव पाई गई है।

ऊना में एक बुजुर्ग स्वाइन फ्लू से पीडि़त पाए गए हैं। वह पंजाब के एक निजी अस्पताल में भर्ती हैं।

डॉ. राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल टांडा में सोमवार को स्वाइन फ्लू के पांच सैंपल लिए गए। पांचों मामले नेगिटिव पाए गए। प्रदेश में इस साल स्वाइन फ्लू के सबसे ज्यादा 70 मामले आइजीएमसी में सामने आए हैं। कांगड़ा, सोलन, मंडी, हमीरपुर व बिलासपुर जिलों में भी स्वाइन फ्लू के कई रोगी हैं।

Posted By: Rajesh Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस