धर्मशाला, जागरण संवाददाता। धर्मशाला में अभी हाल ही में हुए पर्यटन मंत्रियों के राष्ट्रीय सम्मेलन के बाद धर्मशाला में एक ओर बड़ा आयोजन होने वाला है। यह आयोजन पहले आयोजन से भी बड़ा होगा। इसका कारण ये है कि आयोजन में आज जनसहभागिता भी होगी यानि हर कोई आयोजन में आ सकता है। यही नहीं यहां आने वाले लोगों को अपने अधिकारों एवं कर्तव्यों की जानकारियां भी मिलेंगी।

राष्ट्रीय कानूनी सेना प्राधिकरण नई दिल्ली, हिमाचल प्रदेश राज्य कानूनी सेवा प्राधिकरण शिमला व जिला कानूनी सेवा प्राधिकरण कांगड़ा की ओर से 25 सितंबर को पुलिस मैदान धर्मशाला में कानूनी सेवा शिविर लगाया जाएगा। राष्ट्रीय स्तर के इस कानूनी सेवा शिविर में सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश उदय उमेश ललित बतौर मुख्यातिथि शिरकत करेंगे। इसके अलावा विशेष अतिथि के रूप में भारत सरकार के कानूनी एवं न्याय मंत्री किरेन रिजिजू और सर्वोच्च न्यायालय के न्यायधीश जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ विशेष रूप से उपस्थित रहेंगे। केंद्र की ओर से आने वाले इन लोगों के अलावा हिमाचल प्रदेश के मुख्य न्यायधीश अमजद ए सैयद, न्यायधीश सबिना व माचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर भी कार्यक्रम में उपस्थित रहेंगे।

क्षेत्र के लोगों के लिए अच्छी बात ये है कि इस शिविर में कोई भी व्यक्ति आ सकता है। इस कानूनी सेवा शिविर में उपस्थित लोगों को कानूनी विशेषज्ञों के माध्यम से निश्शुल्क जानकारी एवं सलाह दी जाएगी और महिला अधिकारों की रक्षा के लिए चलाई जा रही योजनाओं के बारे में भी बताया जाएगा। यहां धर्मशाला में लगातार हो रहे ऐसे बड़े कार्यक्रमों से प्रदेश सरकार को भी लाभ मिलेगा। चुनावी साल में जनता के जुड़े कार्यक्रम करवाने से भाजपा को अपने पांच साल की उपलब्धि में यह कार्यक्रम शामिल करने में कोई दिक्कत नहीं होगी।

Edited By: Richa Rana