मनाली, जागरण संवाददाता। मनाली लेह मार्ग पर सफर करने जा रहे हैं तो यह आपके लिए यह जानना जरूरी है। लाहुल स्पीति प्रशासन ने बारालाचा दर्रे में बर्फबारी को देखते हुए समय सीमा निर्धारित कर दी है। प्रशासन द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार सुबह नौ बजे के बाद और दोपहर तीन बजे से पहले दारचा और सरचू चैक पोस्ट को पार करना जरूरी होगा। तीन बजे के बाद कोई भी वाहन बारालाचा दर्रे की ओर रुख नहीं कर पाएगा।गौर हो कि बारालाचा दर्रे में पिछले तीन दिन से बर्फबारी हो रही है तथा तापमान में भी भारी गिरावट आई है।

तापमान लुढ़कने से दर्रे में बर्फ जम रही है जिससे सड़क पिसलन भरी हो गई है। खतरे को देखते हुए प्रशासन ने यह कदम उठाया है। इन दिनों लेह की ओर से आने वाले पर्यटकों की संख्या अधिक है। कुल्लू मनाली में बरसात अधिक होने के चलते के अधिकतर पर्यटक जुलाई से 15 सितंबर तक लेह का ही रुख करते हैं। जबकि 15 सितम्बर के बाद बापस लौटते हैं।

सरचू में बीआरओ व सेना का अस्थाई ट्रांजिट कैंप है साथ ही लाहुल स्पीति और लेह पुलिस की चैक पोस्ट भी अभी स्थापित है। सभी की मौजूदगी में अभी सफर जोखिमभरा नहीं है लेकिन जब सभी चैक पोस्ट सरचू से हट जाएगी तो बारालाचा में सफर जोखिमभरा हो जाएगा। लेह मार्ग पर सफर करने वाले पर्यटकों के लिए फोर व्हील ड्राइव वाहन अधिक सुरक्षित है। हालांकि स्थानीय वाहन चालक दर्रे की परिस्थितियों के हिसाब से ही सफर करते हैं लेकिन खतरे से अनजान पर्यटक बिना तैयारी के निकल पड़ते हैं और बारालाचा दर्रे में वाहन के साथ फंस जाते हैं। इन पर्यटकों को सलाह दी जाती है कि गाड़ी में खाने पीने का सामना जरूर रखें और अकेले चलने के बजाए वाहनों के काफिले के साथ सफर करें। उपायुक्त लाहुल स्पीती सुमित खिमटा ने पर्यटकों व वाहन चालकों से आग्रह किया कि निर्धारित समय का पालन करें। मौसम की परिस्थितियों को देखकर ही सफर करें।

Edited By: Richa Rana