शिमला,राज्य ब्यूरो। आम आदमी पार्टी ने हिमाचल प्रदेश की सरकारी स्कूलों की शिक्षा व्यवस्था पर सवाल उठाए हैं। पार्टी के राज्य प्रवक्ता गौरव शर्मा ने आरोप लगाया कि प्रदेश में 80 फ़ीसद स्कूलों में कंप्यूटर नहीं है और 86 फीसद स्कूलों में इंटरनेट की सुविधा नहीं है जबकि 24 फीसद स्कूलों में प्लेग्राउंड नहीं है। उन्होंने शिक्षा विभाग की 2020-2021 की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि हिमाचल प्रदेश में सरकारी स्कूलों की कुल तादाद 15323 है। इनमें से 3572 में कंप्यूटर की व्यवस्था है जबकि इनमें से 2131 स्कूलों में ही इंटरनेट की सुविधा है। उन्होंने शिक्षा मंत्री गोविंद ठाकुर के बयान पर भी पलटवार किया उन्होंने कहा कि मंत्री सरकारी स्कूलों के कंप्यूटरीकरण के झूठे दावे पेश कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी ने जन संवाद के माध्यम से लोगों से संपर्क साधा है। लोगों ने सेल्फी विद स्कूल में असली तस्वीर बयान कर दी है। अब आम आदमी पार्टी चाहती है कि हिमाचल की हर राजनीतिक तस्वीर बदले ।एक मौका भाजपा और कांग्रेस से हटकर आप। को दिया जाए उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में दिल्ली के केजरीवाल मॉडल को अपनाया जाएगा के लिए गंभीरता से प्रयास किए जा रहे हैं ।लोग दिन-ब-दिन पार्टी के साथ बड़ी संख्या में जुड़ते जा रहे हैं ।लाखों की संख्या पार्टी के साथ जुड़ गई है ।गांव गांव तक आप की पहुंच हो गई है इससे भाजपा कांग्रेस दोनों ही बौखलाए हुए हैं। सत्ताधारी दल के नेता बौखलाहट में आकर अनाप-शनाप बयान बाजी कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि शिक्षा मंत्री के अपने गृह जिला के सरकारी स्कूल सही हालत में नहीं है। वह जनता के बीच बेनकाब हो गए हैं उन्होंने कहा कि विपक्ष में बैठी कांग्रेस भी भाजपा का विकल्प नहीं है। ये दोनों ही पार्टी एक जैसी है। इन दोनों की विचारधाराओं में और नीतियों में कोई अंतर नहीं है। उन्होंने दावा जाता है कि इस वर्ष के अंत तक होने वाले चुनाव में आम आदमी पार्टी को लोग पूरा समर्थन देंगे

Edited By: Richa Rana