नगरोटा सूरियां (कांगड़ा), जेएनएन। जिला परिवहन अधिकारी (आरटीओ) मेजर विशाल शर्मा ने कहा कि कांगड़ा को शून्य चालान जिला बनाया जाएगा। इसके लिए सड़क सुरक्षा सप्ताह कार्यक्रम के तहत कांगड़ा जिला के विभिन्न स्थानों पर जाकर स्वयंसेवी संस्थाओं व बुद्धिजीवियों से राय ली जा रही है।

उन्होंने कहा कि सड़क दुर्घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिए भी एक विशेष रणनीति तैयार की जाएगी। प्रदेश में सड़क हादसों में कई लोंगों की जान जा रही है। हादसों में कई लोगों को उम्रभर के लिए जख्म भी मिल रहे हैं। सड़क हादसों को यदि रोकना है तो इसके लिए लोगों को यातायात नियमों का सख्ती से पालन करना होगा। हादसों में कमी लाने के लिए समाज का हर वर्ग सक्रिय भागीदारी निभाए। लोग यातायात नियमों का सख्ती से पालन करना सुनिश्चित करें। लोग इस बात को समझें कि यातायात नियम उनकी बेहतरी के लिए ही बनाई गए हैं। यातायात नियमों को मानने से सड़क हादसों में कमी लाई जा सकती है।

 मेजर विशाल शर्मा ने सेंट रुद्राक्ष कॉन्वेंट स्कूल खब्बल कथोली में सड़क सुरक्षा सप्ताह कार्यक्रम के दौरान कहा कि जसूर स्थित ड्राइविंग प्रशिक्षण संस्थान को विकसित कर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उभारा जाएगा। वहीं, सड़क सुरक्षा सप्ताह कार्यक्रम के दौरान बच्चों की विभिन्न प्रतियोगिताएं भी करवाई गईं। प्राथमिक ङ्क्षवग में चाहत व अनुशिखा प्रथम, अनुज व आनंदिता राजपूत द्वितीय तथा शिवांश व तनवी प्रिया तृतीय स्थान पर रहीं। मिडल विंग में सूरज तलवार व अंशिका प्रथम, अनमोल व अंजली द्वितीय तथा मोहित व शिफाली तृतीय स्थान पर रहीं। हायर विंग में अनिकेत व रितिका प्रथम, हार्दिक व वंशिका गुलेरिया द्वितीय तथा सूरज व वंशिका गुलेरिया तृतीय स्थान पर रहीं।

मेजर विशाल शर्मा ने प्रतियोगिता में अब्बल रहे विद्यार्थियों को स्मृतिचिह्न देकर सम्मानित किया व यातायात नियमों के टिप्स भी दिए। इससे पहले स्कूल के प्रबंधक निदेशक एसएस राजपूत व प्रधानाचार्य मोनिका राणा ने जिला परिवहन अधिकारी मेजर विशाल शर्मा का स्वागत किया।

हिमाचल में जनगणना के लिए तैयारियां शुरू, बनेगा मोबाइल एप

Posted By: Babita kashyap

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस