डमटाल (कांगड़ा), जेएनएन। थाना डमटाल के अंतर्गत मोहटली गांव में पांच लोगों ने बीते शुक्रवार देर रात भगवती जागरण में जबरदस्ती घुसकर एक महिला के साथ मारपीट की। डमटाल थाना के प्रभारी हरीश गुलेरिया ने बताया कि शुक्रवार रात मोहटली निवासी सुनीता कुमारी ने पुलिस को शिकायत पत्र दिया।

सुनीता ने शिकायत पत्र में बताया कि राकेश कुमार के घर भगवती जागरण था। जागरण का इंतजाम खुली जगह में किया गया था। जब जागरण शुरू हुआ तो उस समय मोहटली निवासी तरसेम वहां से गुजरा। जागरण करने वाले एक व्यक्ति के समान से छू जाने पर वह उससे बहस करने लग पड़ा। सुनीता ने बताया कि उसने तरसेम को बहस करने से मना किया। इस पर वह उसके साथ भी उलझ पड़ा। किसी तरह माहौल शांत करवाकर जागरण को फिर शुरू करवाया गया। कुछ देर के बाद वह अपने घर आई तो वहां पर तरसेम अपने कुछ साथियों को लेकर आ गया।

सुनीता ने आरोप लगाया कि तरसेम ने उसे घर पर ही जान से मारने की धमकियां दीं। उस दौरान उसने कुछ देर तक घर में ही रहकर अपनी जान बचाई। इसके बाद तरसेम वहां से चला गया। जब वह कुछ देर बाद फिर से भगवती जागरण में शामिल होने के लिए गई तो तरसेम अपने कुछ अन्य साथियों के साथ वहां पहुंच गया। उसके साथियों को वह पहचानती है जिन्होंने उसके साथ मारपीट शुरू कर दी।

डमटाल थाना के प्रभारी हरीश गुलेरिया ने बताया कि पीडि़त महिला सुनीता कुमारी के बयान के आधार पर मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि सतपाल, तरसेम, अमर सिंह, शिव कुमार व आशा कुमारी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर छानबीन की जा रही है। सभी आरोपित मोहटली के निवासी हैं। नूरपूर के डीएसपी डॉ. साहिल अरोड़ा ने मामला दर्ज होने की पुष्टि की है।

ओडिशा में सिख युवक से बदसलूकी, पुलिस की भूमिका पर उठे सवाल

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस