जागरण संवाददाता, टाडा : डाक्टर राजेंद्र प्रसाद मेडिकल कालेज एवं अस्पताल टाडा में अब एंबुलेंस के लिए तीमारदारों को भटकना नहीं पड़ेगा। अब 24 घटे एंबुलेंस सेवा मिलेगी। नगरोटा बगवा के एसडीएम शशिपाल नेगी ने निजी व विभिन्न संस्थाओं से संबंधित एंबुलेंस वाहनों के लिए रोस्टर व्यवस्था बनाई है। मेडिकल कालेज में इमरजेंसी वार्ड के बाहर गुमटी में अब हर समय तीन एंबुलेंस चालक मौजूद रहेंगे।

टाडा मेडिकल कालेज में इमरजेंसी में एंबुलेंस वाहन नहीं मिल पाता था। रात को अगर कोई मरीज रेफर होता था तो तीमारदारों को दिक्कत होती थी। कुछ एंबुलेंस वाहन चालक रात को मनमाना किराया भी वसूलते थे। ऐसी शिकायत प्रशासन के पास लगातार पहुंच रही थी। इसके बाद एसडीएम नगरोटा बगवा ने सभी निजी एंबुलेंस वाहन चालकों व संचालकों से बैठक की। उनकी समस्या भी सुनी। जब उनके सकारात्मक रवैये के बाद अस्पताल प्रशासन के साथ चर्चा कर सहमति बनाई। इमरजेंसी वार्ड के बाहर एंबुलेंस वाहन खड़े करने व गुमटी में चालकों के बैठने के लिए स्थान निर्धारित किया। अलग-अलग एंबुलेंस वाहनों का उपायुक्त कागड़ा की सहमति से प्रति किलोमीटर किराया भी तय किया गया है। 24 गुना 7 टाडा एंबुलेंस सेवा के नाम से सभी निजी व संस्थाओं से संबंधित एंबुलेंस वाहनों का संगठन बनाया गया है। इसमें सभी 21 एंबुलेंस वाहन शामिल हैं। सबकी दिन व रात की जिम्मेदारी तय की गई है। मरीजों व तीमारदारों को कोई दिक्कत न हो इसका पूरा ध्यान रखा गया है।

.................

यह निर्धारित किया है किराया

एंबुलेंस वाहन, किराया (रुपये प्रति किलोमीटर)

विंगर,15

बोलेरो,14

ईको,12

वैन,12

.................

टाडा अस्पताल में एंबुलेंस के लिए मरीजों व तीमारदारों को कोई दिक्कत नहीं होगी। निजी एंबुलेंस वाहन चालक व संचालक 24 घटे सेवा देंगे। सबके साथ बैठक कर व्यवस्था बना दी गई है। प्रति किलोमीटर किराया भी निर्धारित किया है। 24 गनुा 7 टाडा एंबुलेंस सेवा संस्था के दो मोबाइल फोन नंबर गुमटी में लिखे गए हैं। 24 घटे ये मोबाइल फोन नंबर सेवा में रहेंगे। 500 रुपये हर वाहन के संस्था में जमा होंगे, जिनसे चालकों के लिए सुविधाएं जुटाई जाएंगी। अगर कोई वाहन चालक मनमानी करता है, निर्धारित से अधिक किराया वसूलता है या रात को इमरजेंसी में सेवा देने से मना करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। टाडा मेडिकल कालेज के अंदर वाहन खड़ा करने का अनापत्ति प्रमाणपत्र (एनओसी) भी रद कर दिया जाएगा।

-शशिपाल नेगी, एसडीएम नगरोटा बगवा

Edited By: Jagran