धर्मशाला, जागरण संवाददाता। मुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना के अंतर्गत जिला कांगड़ा में पिछले साल 2021 में कुल 113 मामले यानि आवेदन प्राप्त हुए। इसमें से 102 मामलों को स्वीकृति प्रदान की गई है, शेष पर अभी काम चल रहा है। योजना के अंतर्गत अनेक नये प्रस्ताव प्राप्त हुए जिनमे मुख्यतः कैम्पिंग साइट्स, होटल, शापिंग माल , रेस्टोरेंट, बेकरी इत्यादि को लेकर आवेदन प्राप्त हुए हैं। उद्योग केंद्र धर्मशाला महाप्रबंधक राजेश ने बताया किमुख्यमंत्री स्वावलंबन योजना में 18 से 45 वर्ष आयु के हिमाचली स्थायी निवासी युवक तथा 18 से 50 वर्ष तक कि महिलाएं, एक करोड़ रुपये की परियोजना लागत पर 60 लाख तक के लोन पर क्रमशः 25 तथा 30 प्रतिशत तथा विधवाएं 35 प्रतिशत अनुदान के लिए पात्र है।

इस योजना के द्वारा प्रदेश सरकार जिले के अधिकतम बेरोजगार युवकों एवं युवतियों को आत्मनिर्भर बनाने के प्रयास कर रही है। हाल ही में प्रदेश सरकार द्वारा इस स्कीम के अंतर्गत कुछ नयी परियोजनाओं को शामिल किया गया है, जिसमे मुख्यतः एम्बुलेंस, ई वी चार्जिंग स्टेशन , पेट्रोल पंप, आक्सीजन टैंकर, सर्वेयर यूनिट्स, एग्रो टूरिज्म, टिश्यू कल्चर, दुग्ध उत्पाद के लिए कोल्ड स्टोरेज, डेयरी फार्मिंग इत्‍यादि शामिल है. इसके अलावा विभाग सभी आवेदकों को किसी भी प्रकार के एजेंट अथवा अनाधिकृत संस्था के ठगी अथवा लेनदेन से बचने हेतु सचेत करता है । विभाग द्वारा कोई भी एजेंट अथवा संस्था इस योजना के अंतर्गत सेवाएं देने के लिए मान्य नहीं है । किसी भी जानकारी हेतु आवेदक प्रसार अधिकारी (उद्योग) से खंड विकास अधिकारी के कार्यालय में संपर्क करें अथवा 01892-223242 पर फोन करें।

गोपालपुर में कार्यशाला आयोजित

ग्राम पंचायत गोपालपुर में उद्योग विभाग द्वारा एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस कार्यशाला में महाप्रबन्धक, जिला उद्योग केन्द्र तथा अन्य पंचायत प्रतिनिधि उपस्थित रहे। यह कार्यशाला गुर्जर समुदाय को मुख्यमंत्री स्वावलम्वन योजना के अन्तर्गत डेयरी, दुग्ध प्रसंस्करण उद्योग, कोल्ड स्टोर इत्यादि स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए आयोजित की गई थी।

Edited By: Richa Rana