संवाद सहयोगी, धर्मशाला : निजी बस ऑपरेटर मांगों के समर्थन में 10 सितंबर को हड़ताल पर रहेंगे। जिला कांगड़ा में करीब 1100 निजी बसों के पहिये थम जाएंगे और यात्रियों को गंतव्य तक पहुंचने में परेशानियों का सामना करना पड़ेगा। हालांकि यात्रियों को लोकल रूटों पर अधिक परेशानी न हो, इसके लिए एचआरटीसी लंबे रूटों की सुबह पहुंचने वाली बसों को लोकल रूट पर भेजेगा। निजी बस ऑपरेटरों की हड़ताल रात 12 बजे शुरू होगी और 10 सितंबर रात 12 बजे तक चलेगी।

...................

इन्हें होगी ज्यादा परेशानी

हड़ताल के कारण स्कूल, कॉलेज व शिक्षण संस्थानों के विद्यार्थियों के अलावा कार्यालय आने-जाने वालों को ज्यादा परेशानी होगी।

............

ये हैं मांगें

-न्यूनतम किराया 10 रुपये किया जाए।

-ग्रीन टैक्स हटाया जाए।

-आम किराये में भी बढ़ोतरी की जाए।

........................

'निजी बस ऑपरेटरों की हड़ताल 10 सितंबर की रात 12 बजे तक चलेगी। मुख्य मांग न्यूनतम किराये को 10 रुपये करना है। हड़ताल के बाद भी यदि सरकार मांगें नहीं मानती है तो राज्य कमेटी के निर्देश पर अगला कदम उठाया जाएगा।'

-हैप्पी अवस्थी, अध्यक्ष निजी बस ऑपरेटर यूनियन कांगड़ा।

.......................

'नौ व 10 सितंबर को अवकाश पर गए कर्मियों की छुट्टियां रद कर दी गई हैं। यात्रियों की सुविधा के लिए लंबे रूटों से सुबह पहुंचने वाली बसों को भी लोकल स्तर पर भेजा जाएगा।'

-पंकज चड्ढा, क्षेत्रीय प्रबंधक एचआरटीसी धर्मशाला।

.......................

'हड़ताल के दौरान आवश्यकतानुसार बसों को चलाया जाएगा। इसके लिए सभी तैयारियां की गई हैं और अवकाश वाले कर्मियों को भी बुला लिया है।'

-राजकुमार जरयाल, मंडलीय प्रबंधक एचआरटीसी धर्मशाला।

Posted By: Jagran