संवाद सहयोगी, बड़सर : जिला हमीरपुर के बिझड़ी कस्बे में विकराल रूप धारण कर चुकी जाम की समस्या का अभी तक कोई हल नहीं हो पाया है। हालत यह है कि बिझड़ी में रोजाना जाम की स्थिति बनी हुई। सलौनी-दियोटसिद्ध मार्ग पर वाहनों की भारी आवाजाही से खासकर शाम के समय जाम विकराल रूप धारण कर लेता है। बिझड़ी में बाजार तंग होने की बजह से हर रोज जाम की स्थिति बनी हुई है। शनिवार व रविवार को दियोटसिद्ध में आने वाले श्रद्धालुओं के वाहनों की भारी आवाजाही से जाम लगना आम बात है। बिझड़ी कस्बे में विकराल रूप धारण कर चुकी जाम की समस्या के चलते बाईपास की मांग अभी तक पूरी नहीं हो पाई है। हालांकि बिझड़ी में बाईपास की मांग पिछले लंबे अरसे से की जा रही है लेकिन अभी तक यह पूरी नहीं हो पाई है।

सलौनी-दियोटसिद्ध मार्ग पर बाबा बालकनाथ जाने वाले श्रद्धालुओं के वाहनों की काफी आवाजाही रहती है। खासकर चैत्र मास के मेलों के दौरान तो और भी इस सड़क पर वाहनों की आवाजाही बढ़ जाती है। ऐसे में वन-वे होने के कारण बिझड़ी बाजार में अक्सर वाहनों का जमघट लगा रहता है। हैरत की बात है कि आज दिन तक बाईपास बनाना तो दूर इस बारे अभी तक कोई रूपरेखा भी तैयार नहीं हो पाई है। बिझड़ी बाजार इतना तंग है कि पास देने के लिए जब तक वाहनों को 150-200 मीटर पीछे हटना पड़ता है तब तक वाहनों की लंबी कतार लग जाती है। यही हाल बिझड़ी के कुंआ चौक का है। यहां पर तो स्थिति और भी बदतर है।

कुआं चौक पर घुमारवीं, दियोटसिद्ध, रैली-जजरी, गारली-मैहरे, सलौनी हमीरपुर की ओर जाने वाले वाहनों की हर समय आवाजाही रहती है लेकिन यहां वाहन चालकों को जाम की समस्या से भारी परेशानी झेलनी पड़ती है। ट्रैफिक की समस्या से निजात दिलाने के लिए कुआं चौक पर एक ट्रैफिक कर्मी की नियुक्ति की गई थी लेकिन वर्तमान में बाजार तंग होने की बजह से जाम की समस्या से छुटकारा नहीं मिल पा रहा है।

बिझड़ी में जाम की गंभीर समस्या है। इससे निपटने के लिए ट्रैफिककर्मी तैनात किया गया है। अगर बिझड़ी में बाईपास बने तो ही स्थायी रूप से जाम की समस्या का हल होगा।

जसवीर ठाकुर, डीएसपी।

Posted By: Jagran