संवाद सहयोगी, नादौन : कन्या विद्यालय नादौन में तीन दिवसीय उपमंडल स्तरीय बाल विज्ञान सम्मेलन का शुभारंभ हुआ। इस दौरान कन्या विद्यालय के प्रधानाचार्य गोविंद ¨सह ठाकुर भी उपस्थित रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला विज्ञान पर्यवेक्षक अश्वनी ने की। उन्होंने कहा वर्तमान युग विज्ञान का है इसलिए हर व्यक्ति की सोच वैज्ञानिक होनी चाहिए। जल और वायु दोनों प्रदूषित हैं और अब संसार के सामने शुद्ध जल उपलब्ध करवाना एक बड़ी चुनौती बना हुआ है। गांवों में भी कूड़े कचरे के बड़े-बड़े ढेर लग रहे हैं और शहरों में तो कूड़े के निष्पादन की समस्या और भी गंभीर रूप ले चुकी है। उन्होंने कहा कि आज हमें जरूरत है कि हम अपनी दिनचर्या की गतिविधियों का एक सोशल ऑडिट करें तथा उसका एक वैज्ञानिक हल निकाल कर आगे बढ़ें। बाल वैज्ञानिकों को महान वैज्ञानिकों की जीवनियां पढ़कर उनसे प्रेरणा लेने के लिए प्रेरित किया। इससे पूर्व मुख्य अतिथि प्रधानाचार्य गो¨वद ठाकुर ने कार्यक्रम का शुभारंभ किया। बाल विज्ञान सम्मेलन में नादौन खंड के 90 स्कूलों के पांच सौ प्रतिभागी भाग ले रहे हैं।

Posted By: Jagran