संवाद सहयोगी, जाहू : लावारिस पशुओं के कहर के किसान बेहद परेशान हैं। दिनभर खेतों में पहरा देने के बावजूद मक्की की फसल को पूरी तरह से बर्बाद कर दिया है। भोरंज उपमंडल की जाहू पंचायत के हौड़, नलखा, डोहग, तलाई सुलगवान व जाहू गांव के किसान पिछले दस साल से लावारिस पशुओं की वजह से बेहद परेशान हैं। जगह-जगह लावारिस पशुओं के झुंड होने की वजह से किसानों को अपनी फसल बचाना मुश्किल हो गया है। मक्की की बंपर फसल होने की उम्मीद लगाए किसानों की मक्की की फसल पूरी तरह से बर्बाद कर दी है।

तलाई गांव के पवन कुमार, जगदीश चंद, अजय कुमार, अमर ¨सह, सावित्री देवी व अन्य ने बताया लावारिस पशुओं ने मक्की की फसल को पूरी तरह से उजाड़ दिया है। हालांकि जाहू में गोशाला भी चल रही है। इसके बावजूद लावारिस पशुओं की समस्या से निजात नहीं मिली है। जाहू बाईपास पुल, मुंडखर के पुल, सुलगवान, तलाई, जाहू बाजार में लावारिस पशुओं के कारण हादसे हो चुके हैं। वाहन चालक पवन कुमार, चमेल ¨सह, संजीव कुमार, मनोज कुमार, त्रिलोक चंद, परस राम, बनारसी राम, संजू, विक्की का कहना है कि लावारिस पशुओं को सड़क व पुलों से हटाया जाए ताकि हादसों से बचा जा सके।

इस बारे में जाहू पंचायत प्रधान राजू का कहना है कि जाहू में लावारिस पशुओं की समस्या विकराल बन गई है। पंचायत लावारिस पशु छोड़ने वालों के खिलाफ जुर्माना करेगी। इसके लिए ग्रामीणों को पशु छोड़ने वाले लोगों को पकड़ना होगा और पंचायत प्रतिनिधि ऐसे लोगों पर नजर रख रहे हैं।

Posted By: Jagran