जागरण संवाददाता, हमीरपुर : मंडी के सरकाघाट में 81 वर्षीय बुजुर्ग महिला के साथ हुई क्रूरता के मामले में पीड़िता के दामाद ने एसपी मंडी के उस बयान को खारिज किया है जिसमें एसपी मंडी ने का था कि शिकायतकर्ता पक्ष ने अपनी शिकायत को बार-बार वापस लिया था। वहीं, अब पीड़िता के दामाद अजय ठाकुर ने दावा किया है कि 24 अक्टूबर को गांव में पुलिस कर्मचारियों की मौजूदगी में उक्त घटना हुई थी, जिसमें करीब दो घंटे तक गांव के लोगों ने उनके व उनके परिवार के साथ मारपीट व गाली-गलौज किया लेकिन मौके पर पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। पीड़ित पक्ष का कहना है कि गांव वालों ने देवता के नाराज होने व मामला वापस लेने का दबाव भी पुलिस के सामने ही बनाया था। इस पर भी पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई थी। आखिर में हारकर उन्होंने कार्रवाई न करवाने की बात कही थी। अजय ठाकुर ने कहा कि अगर वह ऐसा नहीं करते तो गांववाले उनके साथ कुछ भी कर सकते थे।

पीड़िता के दामाद ने बताया कि मौके पर पुलिस गांववालों के खिलाफ केस बनाकर कार्रवाई कर सकती थी, लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। उलटा उन्हीं पर कार्रवाई न करवाने को लेकर दबाव डाला गया। परिवार के सदस्यों व खुद की जान बचाने के लिए उन्हें कार्रवाई करने से मना करना पड़ा था। उन्होंने सरकार व प्रशासन से कड़ी कार्रवाई की मांग करते हुए इंसाफ दिलाने की मांग की है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप