जागरण संवाददाता, हमीरपुर : मृत अमिता कुमारी के मामले की प्रदेश सरकार को गहनता से जांच करवानी चाहिए। यह बात जिला कांग्रेस वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुमन भारती ने कही। उन्होंने कहा कि जिस तरह से आस्था अस्पताल में महिला की मौत हुई उससे समाज के लोगों को गहरी ठेस पहुंची हैं। सुमन भारती प्रदेश की जयराम ठाकुर सरकार को चेताया कि प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज देखने को नहीं मिल रही हैं। उन्होंने हमीरपुर मेडिकल कॉलेज की नर्स ने उत्पीड़न के चलते आत्महत्या कर ली और अब एक सरल स्वाभाव की अध्यापिका की ऑपरेशन के दौरान हुई मौत गंभीर सवाल खड़े कर रही हैं।

थाना प्रभारी संजीव गौतम को ऐसी क्या नौबत आ गई कि वह अपनी टीम सहित ब्राहलड़ी में मृत अमिता कुमारी के परिजनों को रोकने के लिए पहुंच गए। परिजनों का हक था उन्होंने इस मामले की हर बात मुख्यमंत्री के समक्ष रखनी थी। लेकिन उनकी आवाज को दबाने का प्रयास किया और उन्हें अपना पिस्टल निकाल उन्हें डराने का प्रयास सुरक्षा देने वालों के माध्यम से हुआ है जोकि कड़ी निदा के काबिल हैं। मुख्यमंत्री व हमीरपुर प्रशासन से मांग है कि मृत अध्यापिका अमिता कुमार के मामले की निष्पक्ष जांच हो और दोषियों के खिलाफ कार्रवाई में अमल में लाई जाए।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप