संवाद सहयोगी, गलोड़ : नादौन उपमंडल के पटवारघरों सहित प्रदेश के अन्य कई पटवारघर कई महीनों से बिना पटवारी के हैं। इन पटवारघरों के तहत आने वाले लोग अपने कामों के लिए यहां-वहां चक्कर काट रहे हैं। पटवारियों की कमी से आ रही समस्या से जनता परेशान हैं। कई पटवार सर्कल तो बंद पड़े हुए हैं। लेकिन सरकार है कि साढ़े तीन महीने से पटवारी परीक्षा का परिणाम लटकाए हुए है। 1120 प्रशिक्षु पटवारियों ने अप्रैल में विभागीय परीक्षा दी थी। लेकिन लगभग साढ़े तीन महीने का समय बीत जाने के बाद भी सरकार ने परीक्षा का परिणाम नहीं निकाला है। परिणाम में हो रही देरी का प्रशिक्षु

पटवारियों ने विरोध किया है तथा सरकार से मांग की है कि परिणाम जल्द निकाला जाए। जिससे कि उनको सेवा का अवसर मिल सके।

वहीं, सरकार ने काम चलाऊ सेवाओं के लिए सेवानिवृत पटवारियों की सेवाएं ले रखी हैं। यह पटवारी भी लोगों की समस्याओं को दूर करने में असमर्थ हैं। उम्र दराज पटवारी कभी सेहत की वजह से तो कभी किसी अन्य कामों से ज्यादातर डियूटी से नदारद रहते हैं। बेरोजगार युवाओं ने सरकार से अपील की है कि शीघ्र परिणाम घोषित किया जाए।

By Jagran