जागरण संवाददाता, हमीरपुर : जिला प्रशासन की पहल व प्रोत्साहन से स्वयं सहायता समूह एवं किसानों द्वारा उत्पादित एवं निर्मित उत्पादों की बिक्री के लिए हिमाचल प्रदेश फसल विविधिकरण प्रोत्साहन परियोजना (जायका) द्वारा हमीरपुर में हथेली खड्ड पुल के पास अस्पताल सड़क पर निर्मित संग्रह केंद्र में साप्ताहिक बाजार आज से आरंभ हुआ। हिमाचल प्रदेश फसल विविधिकरण परियोजना हमीरपुर के खंड परियोजना प्रबंधक डॉ. प्रेम चन्द शर्मा ने बताया कि आज प्रथम दिन इस बाजार के माध्यम से लगभग पांच क्विंटल हरी सब्जियां बेची गई। किसानों द्वारा पालक, सरसों, मूली, गोभी, प्याज, हल्दी, हरा धनिया, अदरक, करेला, मेथी पालक, मशरूम, आदि सब्जियां विक्रय के लिए रखी गई थी। साप्ताहिक मंडी में स्वयं सहायता समूहों द्वारा निर्मित सीरा, सेवियां, बडि़यां, मक्की का आटा तथा स्थानीय हल्दी आदि विभिन्न उत्पादों कीे भी बिक्री की गई। उन्होंने कहा कि किसानों को प्रोत्साहित करने के लिए यह अपने आप में एक नई पहल है। इससे लोगों को प्राकृतिक तौर पर उत्पादित सब्जियां व अन्य कृषि उत्पाद उचित मूल्य पर उपलब्ध हो रहे हैं। उन्होंने स्थानीय लोगों से आग्रह किया है कि इस बाजार में खरीददारी कर अवश्य लाभ उठाएं। उन्होंने इस पहल के लिए उपायुक्त हरिकेश मीणा व जिला प्रशासन का विशेष तौर पर आभार व्यक्त किया है। जिला परियोजना प्रबंधक विनोद शर्मा ने कहा कि हर शुक्रवार लगाई जाने वाली इस साप्ताहिक मंडी से छोटे किसानों को अपनी कम उपज को बेचने की सुविधा मिलेगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप