जागरण संवाददाता, हमीरपुर : जिला भाजपाध्यक्ष अनिल ठाकुर के सोशल मीडिया में दी प्रतिक्रिया की काफी चर्चा देखने को मिली हैं। जिला भाजपा अध्यक्ष कहते हैं कि फेसबुक पर अपने दिल बात लिखी हैं। सरकार के कार्यक्रमों की जानकारी भाजपा संगठन तक नहीं पहुंच रही हैं। अधिकारी व कर्मचारी संगठन को पूरी तरह से दरकिनार कर रहे हैं और जिला में मंत्री व अन्य कार्यक्रमों के दौरों की संगठन को कोई जानकारी नहीं दी जाती है। जिला में हुए जनमंच के कार्यक्रमों में संगठन को विश्वास में नहीं लिया गया और न ही संगठन को इसकी जानकारी प्रशासन ने देना उचित समझा। जब उनसे जिला में शिकायत निवारण समिति, 20 सूत्रीय कमेटी व एपीएमसी., रोगी कल्याण समिति या बोर्ड, निगमों के जो सदस्य मनोनीत किए गए हैं उसके बारे में संगठन को विश्वास में लेना उचित नहीं समझा। अनिल ठाकुर ने कहा कि पार्टी सरकार की रीढ़ की हड्डी होती है और कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों की अधिकारी वर्ग पूरी तरह से अनदेखी की जा रही है। अनिल ठाकुर ने बताया कि इस संबंध में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर, प्रदेश भाजपाध्यक्ष सतपाल सत्ती तथा अन्य पार्टी पदाधिकारियों को जिला में संगठन की अनदेखी के बारे में जानकारी देंगे। जब उनसे पूछा कि इस बारे में कोई शिकायत पत्र भी लिखा है तो कहा कि इस संबंध में पार्टी की बैठकों में पूरी विस्तृत रिपोर्ट पेश करेंगे। अनिल ठाकुर ने मीडिया में दिए जा रहे बयानों को देखते ही पूर्व कर्मचारी प्रकोष्ठ के पदाधिकारी भी आश्चर्यचकित होकर रह गए और इसी मुद्दे को लेकर घनश्याम व अनिल ठाकुर काफी देर तक आपस में बातचीत करते देखे गए। अनिल ठाकुर द्वारा पहली बार अधिकारियों की अनदेखी का मामला मीडिया के माध्यम से उजागर किया। अनिल ठाकुर से पूछा गया कि जिला के पार्टी के जो विधायक हैं उनसे बातचीत की गई क्या उन्हें इस मामले के बारे में अवगत कराया तो कहा कि शीघ्र ही जिला के वर्तमान विधायकों, पदाधिकारियों व दिग्गज नेताओं को संगठन में हो रही अनदेखी के बारे में वास्तव स्थिति से अवगत करवाएंगे।

Posted By: Jagran