संवाद सहयोगी, सलौणी : उपमंडल बड़सर के अंतर्गत आने वाले सलौणी बाजार में बिजली की तारें दुकानदारों के लिए परेशानी का सबब बनी हुई हैं। स्थानीय दुकानदारों का कहना है कि बिजली की तारें दुकान के साथ सटी होने के कारण कभी भी आगजनी जैसी अप्रिय घटना हो सकती है। गौरतलब है कि बीते वर्ष भी शार्ट सर्किट के कारण बाजार की एक मोबाइल शाप में आग लग गई थी, जिसमें लाखों रुपये का नुकसान हो गया था। गौर रहे कि बाजार में जगह-जगह अवस्थित बिजली की तारों का जमावड़ा होने के कारण कभी भी आगजनी जैसी अप्रिय घटना का अंदेशा बना रहता है। स्थानीय दुकानदारों ने विभाग से मांग की है कि जल्द ही उन्हें इस समस्या से निजात दिलाई जाए। बिजली की तारों के जाल से लोग परेशान है, कुछ जगह तो विद्युत पोल तक नहीं है, बांस के खंभों के सहारे तारों को टांगा गया है। मकानों की छतों को छू रही तारें छोटे बच्चों के लिए खतरा है।

- संजीव पठानिया, प्रधान व्यापार मंडल सलौणी। कई बार बिजली बोर्ड को इस समस्या के बारे में अवगत करवाया गया, लेकिन लोगों की यह समस्या वैसे की वैसे ही है। शिकयत के बाद अधिकारी आते हैं, ओर देख कर चले है। समस्या का समाधान नहीं हुआ है।

- काली दास शर्मा, बिजली की तारें दुकानों व मकानों के साथ सटे होने के कारण शार्ट सर्किट होने का ज्यादा खतरा रहता है। विद्युत बोर्ड लोगों की इस समस्या को जल्द से जल्द समाधान करें।

- मनोज कुमार। शहर में फैले तारों के जाल से लोग परेशान है। कई जगह तारें घरों की छतों से सटी हुई हैं, जो छोटे बच्चों के लिए खतरा बनी हुई है। छोटे-छोटे बच्चे खेलने के लिए छतों के साथ लग रही तारों को पकड़ लेते है जिससें बच्चों की करंट लगने से जान भी जा सकती।

- रामपाल शर्मा।

Edited By: Jagran