जागरण संवाददाता, धर्मशाला : खेल मंत्रालय ने धर्मशाला को वॉलीबॉल नेशनल अकादमी का तोहफा दिया है। नेशनल सेंटर ऑफ एक्सीलेंस में राष्ट्रीय स्तर की खिलाड़ी अभ्यास करेंगी। प्रारंभिक चरण में खेल मंत्रालय ने वॉलीबॉल की 20 सीटें मंजूर की हैं। हॉस्टल खुलने के साथ ही प्रवेश प्रक्रिया शुरू होगी। धर्मशाला में एक साल से कबड्डी व खो-खो की नेशनल अकादमी चल रही है। सेंटर ऑफ एक्सीलेंस के लिए धर्मशाला के सकोह में जमीन तय हो चुकी है। कुछ औपचारिकताओं के बाद निचले सकोह में सेंटर ऑफ एक्सीलेंस स्थापित होगा। कबड्डी व खो-खो के खिलाड़ी भारतीय खेल प्राधिकरण (साई) हॉस्टल धर्मशाला में रहकर अभ्यास कर रहे हैं। बॉलीवॅाल की खिलाड़ी भी साई हॉस्टल में रहेंगी। साई हॉस्टल में 21 वर्ष के बाद खिलाड़ियों को वापस भेज दिया जाता है। सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनने पर 21 वर्ष से अधिक आयु के खिलाड़ी औपचारिकताएं पूरी किए बिना यहां रह सकते हैं। खिलाड़ियों के लिए विशेष कोचों के साथ रहने व खाने की भी व्यवस्था होगी। सेंटर ऑफ एक्सीलेंस में बनाए जाएंगे 70 कमरे 16 कनाल भूमि पर प्रस्तावित सेंटर ऑफ एक्सीलेंस में 70 कमरे बनाए जाएंगे। इनमें राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी रहेंगे। सेंटर में जिम व एसी की भी व्यवस्था होगी। ----------- खेल मंत्रालय ने नेशनल सेंटर ऑफ एक्सीलेंस के लिए वॉलीबॉल की 20 सीटें मंजूर की हैं। हॉस्टल खुलने के साथ ही सीटों को भरने की प्रक्रिया शुरू होगी। सेंटर में राष्ट्रीय स्तर पर पदक जीतने वाले खिलाड़ियों को प्रवेश मिलेगा। -निर्मल कौर, प्रभारी, साई हॉस्टल, धर्मशाला

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस