योल, जेएनएन। शुक्रवार सुबह केंद्रीय विद्यालय योल के समीप खडे़ स्कूली वाहनों के चालान काटने से वाहन चालक भड़क उठे। क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी द्वारा काटे गए चालान के विरोध में चालकों ने आरटीओ के खिलाफ मौके पर ही जमकर नारेबाजी की गई। टैक्सी चालकों में विनोद, विकास, अनिल, अजय, गगन, हेमराज, अमन, दीपराज, रजनीश, सचिन, नरेंद्र, निशांत रोहित, सोनू, राकेश, कपिल, मनजीत, जोगिंद्र बिट्टू, छोटू रिंकू व काका ने बताया कि प्रशासन का इस तरह का तानाशाही रवैया सहन नहीं होगा। उन्होंने कहा कि बेरोजगार युवक जिन्होंने लाखों रुपये का बैंक से कर्ज लेकर वाहन खरीदे हैं और इनसे ही अपनी रोजी रोटी चला रहे हैं।

ऐसे में ओवरलोडिंग व बिना वर्दी का हवाला देकर स्कूल के बाहर खड़े खाली वाहनों का चालान काटना कहां का इंसाफ है। वहीं अभिभावकों में संसार, सुरेश, राजकुमार का कहना है कि जो वाहन प्रशासन द्वारा अधिकृत किए गए हैं उनका किराया इतना ज्यादा है कि वह उनकी पहुंच से बाहर है। इसके अलावा ये बड़े वाहन उनके घरों तक नहीं पहुंच पाते हैं। इस विरोध प्रदर्शन मे सेक्रेट हार्ट स्कूल व आधुनिक स्कूल के चालकों ने भाग लिया।

नियमों का उल्लंघन करने पर काटे चालान चालकों के आरोप निराधार हैं। ऐसा कुछ नहीं है। आठ वाहनों के चालान किए गए हैं जिनमें पांच निजी वाहनों में बच्चे ठूस-ठूस कर भरे थे। तीन टैक्सियों जिनके कागजात पूरे नहीं थे, के चालान काटे गए हैं। जहां तक निजी वाहनों का सवाल है उन्हें दायरे में रह कर बच्चे ढोने चाहिए, ताकि स्कूली बच्चों की सुरक्षा से खिलवाड़ न हो। डॉ. मेजर विशाल शर्मा, क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी।