जागरण संवाददाता, धर्मशाला : मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने प्रदेश में बर्फबारी के कारण उत्पन्न हुई स्थिति की समीक्षा के लिए विधानसभा परिसर तपोवन में राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बैठक की अध्यक्षता की। उन्होंने अधिकारियों को प्रदेश में सभी आवश्यक सेवाओं को तुरंत बहाल करने के निर्देश दिए।

मुख्यमंत्री ने लोगों को अनावश्यक परेशानी से बचाने के लिए लोक निर्माण विभाग को सभी प्रमुख सड़कों को बहाल करने का निर्देश दिया। उन्होंने बर्फबारी से अवरुद्ध सड़कों की बहाली के लिए उपयुक्त कार्यबल व मशीनरी तैनात करने को कहा। उन्होंने कहा कि अस्पतालों व अन्य ऐसी आवश्यक सुविधाओं के लिए जाने वाले सड़कों को प्राथमिकता के आधार पर बहाल किया जाएगा ताकि विशेषकर मरीजों को किसी दिक्कत का सामना न करना पड़े। भारी बर्फबारी वाले क्षेत्रों में शीघ्र विद्युत आपूर्ति को बहाल किया जाना चाहिए क्योंकि विभिन्न संचार सुविधाएं विद्युत आपूर्ति पर निर्भर करती है। उन्होंने सभी उपायुक्तों को पर्यटकों व आम जनता से अधिक ऊंचाई वाले क्षेत्रों और ट्रैकिंग पर न जाने तथा बर्फ से ढकी सड़कों पर सावधानी से वाहन चलाने के संबंध में दिशानिर्देश जारी करने को कहा।

विभागों को बेहतर समन्वय के निर्देश

मुख्य सचिव डॉ. श्रीकांत बाल्दी ने मुख्यमंत्री को प्रदेश में सभी आवश्यक सुविधाओं को शीघ्र बहाल करने के लिए हर संभव प्रयास करने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि आवश्यक सुविधाओं की शीघ्र बहाली के लिए सभी विभागों को एक-दूसरे से विभिन्न स्तर पर बेहतर समन्वय सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए हैं। ये रहे उपस्थित

बैठक में प्रधान सचिव (बहुद्देश्यीय परियोजनाएं एवं ऊर्जा) प्रबोध सक्सेना, प्रधान सचिव (लोक निर्माण विभाग) जेसी शर्मा, प्रधान सचिव (राजस्व) ओंकार शर्मा, पुलिस महानिदेशक एसआर मरडी, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव संजय कुंडू, सचिव सिचाई एवं जनस्वास्थ्य डॉ. आरएन बत्ता, सचिव (सामान्य प्रशासन) देवेश कुमार, राज्य विद्युत निगम के प्रबंध निदेशक जेपी काल्टा, सिचाई एवं जनस्वास्थ्य के प्रमुख अभियंता नवीन पुरी, लोक निर्माण विभाग के मुख्य अभियंता आरके वर्मा, मुख्यमंत्री के प्रधान निजी सचिव विनय सिंह, सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के निदेशक हरबंस सिंह उपस्थित थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस