संवाद सूत्र, नगरोटा सूरियां : गलुआ गांव के एक ढाबे में बेहोशी की हालत में मिले कटोरा पंचायत निवासी 56 वर्षीय जगत राम की सोमवार रात पीजीआइ चंडीगढ़ में मौत हो गई। उनके बेटे रूप लाल ने आरोप लगाया है कि उसके पिता की ढाबे के मालिक संजू व अंजू और कपाहड़ी निवासी बिल्ला ने पिटाई की थी। उस वजह से वह बेहोश हो गए थे। उनके पिता 24 अप्रैल सुबह दिहाड़ी लगाने के लिए घर से गए थे। शाम को उन्हें पता चला कि पिता गलुआ में एक ढाबे के पास बेहोश पड़ा है। उन्हें उठाकर घर लाया गया। अगले दिन उन्हें सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए तो डॉक्टर ने हालत नाजुक देख टांडा अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। टांडा में डॉक्टरों ने बताया जगत राम के सिर पर अंदरूनी चोट आई हैं। ऐसे में उन्हें पीजीआइ रेफर कर दिया, जहां 29 अप्रैल की रात उनका निधन हो गया।

रूप लाल के अनुसार ढाबे के मालिक संजू व वहां बैठे अंजू और बिल्ला के साथ किसी बात को लेकर उनके पिता की कहासुनी हुई थी। उक्त तीनों ने उसके पिता की पिटाई कर बेहोश कर दिया। इसकी शिकायत पुलिस चौकी नगरोटा सूरियां में 27 अप्रैल को ही कर दी थी, लेकिन पुलिस ने अभी तक कोई भी कार्रवाई नहीं की है। उन्होंने चेतावनी दी है कि यदि आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई तो पहली मई को शव के साथ पुलिस प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन किया जाएगा।

उधर, जवाली के डीएसपी ज्ञान चंद ठाकुर ने बताया कि पुलिस चौकी नगरोटा सूरियां में कटोरा निवासी रूप लाल ने अपने पिता से तीन व्यक्तियों द्वारा मारपीट करने की शिकायत की है। मामले की छानबीन की जा रही है। पुलिस चौकी के मुख्य आरक्षी प्रदीप को शव लाने पीजीआइ भेज दिया गया है। पोस्टमार्टम की रिपोर्ट के आधार पर मामला दर्ज किया जाएगा व कानून के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस