जागरण संवाददाता, धर्मशाला : फरवरी से बंद पड़े कांगड़ा जिले के सरकारी स्कूल सोमवार को खुलेंगे। नौवीं से जमा दो के विद्यार्थी ही स्कूल आएंगे। इस दौरान कक्षाएं नहीं लगेंगी। विद्यार्थियों को अभिभावकों से सहमति पत्र लाना होगा और उसके बाद ही स्कूल में प्रवेश मिलेगा।

कांगड़ा जिले में हाई व सीनियर सेकेंडरी स्कूलों की संख्या करीब 500 है। इसके अलावा 600 निजी स्कूल भी हैं। स्कूलों के बंद होने के कारण बच्चे ऑनलाइन ही पढ़ाई कर रहे हैं। स्कूल आने पर शिक्षकों व विद्यार्थियों को मास्क पहनना अनिवार्य होगा। बच्चों को छह फीट की दूरी पर बिठाया जाएगा। स्कूलों में हैंडवाश और सैनिटाइजर की व्यवस्था करनी होगी। उपनिदेशक उच्च शिक्षा कांगड़ा रेखा कपूर ने बताया कि कोविड-19 के दिशानिर्देशों का पालन करना होगा। विद्यार्थियों को अभिभावकों से सहमति पत्र लाना होगा और उसके बाद ही स्कूल में प्रवेश दिया जाएगा।

:::::::::::::::::::::::::::::::::::::

ये हैं स्कूलों को निर्देश

-नौवीं से 12वीं कक्षा के बच्चे परामर्श के लिए स्कूल आएंगे। हर बच्चे और शिक्षक की थर्मल स्कैनिंग होगी। साथ ही ऑक्सीजन लेवल भी चेक किया जाएगा।

-गेट पर हैंड सैनिटाइजर रखना होगा। थर्मल स्क्रीनिंग भी यहीं पर की जाएगी।

-यदि किसी बच्चे में सर्दी-जुकाम के लक्षण हैं तो वह घर पर ही रहेगा।

-क्लास रूम की बजाए शिक्षक कैंपस में ही बच्चों से संवाद करेंगे।

-बच्चों और शिक्षकों के बीच छह फीट की दूरी अनिवार्य होगी।

-प्रार्थना सभा व खेलकूद प्रतियोगिता नहीं होगी।

-स्कूल परिसर में थूकना भी वर्जित होगा।

-स्कूल में हाजिरी रजिस्टर पर ही लगाई जाएगी।

-शनिवार और रविवार को स्कूलों को सैनिटाइज किया जाएगा।

-शिक्षक किसी भी बच्चे पर जबरन स्कूल आने के लिए दबाव नहीं बना पाएंगे।

-स्कूलों में आने के इच्छुक विद्यार्थियों को अलग-अलग समय दिया जाएगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021