जागरण संवाददाता, धर्मशाला : पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार कसौली में होने वाले लिटफेस्ट के विरोध नहीं हैं। उन्होंने कहा कि कार्यक्रम में संवाद होते रहना चाहिए। इस बार संवाद के बीच विवाद भी हुआ है। जाने-अनजाने कुछ बातें ऐसी हुईं जो सही नहीं थीं। ऐसी बातों से बचना चाहिए। सोमवार को धर्मशाला में पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने दूसरी राजधानी के फैसले पर भी सवाल उठाया। बकौल शांता, जब देश की एक राजधानी है तो प्रदेश में दो राजधानियों का क्या औचित्य है। हिमाचल जैसे राज्य में एक राजधानी ही काफी है। दो मंत्रियों के बीच फंसे रहे धर्मशाला के विकास के सवाल पर उन्होंने कहा कि मैं भरोसा दिलाता हूं कि बहुत जल्द जयराम सरकार में बदलाव होगा। मुख्यमंत्री वही करेंगे, जो ऊचित होगा।

उन्होंने कहा कि उनकी जागीर बेटे के नाम पर है लेकिन राजनीतिक तौर पर कोई उत्तराधिकारी नहीं है। पार्टियों में उत्तराधिकारी का चलन गलत है। इसे बंद किया जाना चाहिए। भाजपा इस मामले में आगे है। सरकार ने बनाई इन्वेस्टर फ्रेंडली नीति

शांता ने कहा वोटर व इन्वेस्टर मीट प्रदेश के लिए दो महत्वपूर्ण कार्य हैं। इनवेस्टर मीट प्रदेश के विकास के लिए मील पत्थर साबित होगी। लेकिन कांग्रेस इसमें सुझाव देने की बजाय विरोध पर उतारू है, जो गलत है। भाजपा सरकार ने इन्वेस्टर मीट से पहले प्रदेश में उद्योग स्थापित करने की हर प्रक्रिया को आसान बनाया है। सरकार ने इन्वेस्टर फ्रेंडली नीति तैयार की है जिसमें हर किसी के सुझाव लिए गए हैं। पहले कुछ खामियां भले रही हों, लेकिन सरकार ने इन्हें दूर कर दिया है। इन्वेस्टर मीट से सरकार उद्योग व पर्यटन को बढ़ावा देकर बेरोजगारी से काफी हद तक निजात पा सकती है। कांग्रेस में एक परिवार की गुलामी

कांग्रेस एक परिवार की गुलामी से मुक्त नहीं हो पा रही है। ऐसे में वह विकास की क्या बात कर सकती है। उन्होंने कहा उपचुनाव में भले ही जातिवाद का नारा दिया जा रहा हो लेकिन भाजपा ने जातिवाद नहीं बल्कि विकास को आधार बनाकर राजनीति की है। वोटर बुद्धिजीवी हैं और वे प्रदेश हित के लिए मतदान भी करेंगे। बिंदल का किया समर्थन

विधानसभा अध्यक्ष डॉ. राजीव बिदल के पच्छाद उपचुनाव में प्रचार करने पर उठ रहे सवाल पर शांता ने कहा यह पुरानी परंपरा रही है, जिसे भाजपा भी निभा रही है। ऐसे में कांग्रेस को शोर मचाने की जरूरत नहीं है। इस मौके पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सतपाल सत्ती, किशन कपूर, विपिन परमार, बिक्रम ठाकुर, राकेश शर्मा व संजय शर्मा मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस