संवाद सूत्र, डमटाल : नशा निवारण समिति की बैठक इंदौरा में हुई। इसमें मुख्य अतिथि डीआइजी डॉ. अतुल फुलझले रहे जबकि एसएसपी संतोष पटियाल, इंदौरा के एसडीएम गौरव महाजन, नूरपुर के डीएसपी साहिल अरोड़ा, इंदौरा थाना प्रभारी संदीप पठानिया विशेष रूप से उपस्थित रहे।

बैठक में पुलिस अधिकारियों ने नशे के संदर्भ में दर्ज किए गए विभिन्न मामलों के आकडे़ लोगों के समक्ष रखे व नशा निवारण समिति के पदाधिकारियों ने समाजसेवी लोगों के सुझाव लिए। बैठक में मौजूद लोगों से नशा बेचने वालों की सूचना तुरंत पुलिस को देने का आग्रह भी किया गया। वहीं दवा विक्रेताओं को भी सचेत किया गया कि वह भी संदिग्ध लोगों के बारे में पुलिस को तुरंत सूचित करें। एसडीएम गौरव महाजन ने कहा कि नशा ऐसा तूफान है जिसकी आहट नहीं होती किंतु इससे बहुत बड़ी क्षति हो रही है। इसलिए हम सबको मिलकर नशा विरोधी मुहिम से नशे पर पूर्ण अंकुश लगाना है।

एसएसपी संतोष पटियाल ने कहा कि आज युवा पीढ़ी नशे में फंसती जा रही है, इसलिए युवाओं को नशे से दूर रखना जरूरी हे तथा नशा कारोबारियों को जड़ से खत्म करने में पुलिस का आमजन भी सहयोग दें।

डॉ. अतुल फुलझले ने कहा कि समाज के लोगों से पुलिस को कई महत्वपूर्ण सुराग मिलते हैं, इस प्रकार कई बार बड़ी सफलताएं भी मिलती रहती हैं। उन्होंने कहा कि जहां समाज का सहयोग प्रशासन को मिलेगा वहां नशे जैसे कुरीतियों को आसानी से ही मिटाया जा सकता है। पुलिस अपने स्तर पर नशे को जड़ से खत्म करने के लिए वचनबद्ध है। बैठक में पंचायत प्रधान, महिला मंडल व युवा मंडल पदाधिकारी, नशा निवारण कमेटी मंड क्षेत्र अध्यक्ष सतपाल कटोच, विनोद शर्मा, राजकुमार व राजू प्रधान मौजूद रहे।

Posted By: Jagran