जागरण संवाददाता, धर्मशाला : धर्मशाला उपचुनाव में पैसे बांटने के आरोप पर कांग्रेस ने शिकायत चुनाव आयोग से की है। शिकायत में कांग्रेस ने भाजपा के धर्मशाला उपचुनाव प्रभारी विपिन परमार पर पैसों का प्रलोभन देने पर उन्हें चुनाव आयोग के कटघरे में खड़ा किया है। धर्मशाला में मंगलवार को पत्रकारों से बातचीत में कांग्रेस के उपचुनाव पर्यवेक्षक योगेश साहनी ने कहा कि भाजपा सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग कर रही है।

आरोप लगाया किपैसे भी बांटे जा रहे हैं और सरकारी विश्राम गृहों का उपयोग सरकार के नुमाइंदों द्वारा किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन पर कांग्रेस ने करीब12 शिकायतें की हैं। पैसों के प्रलोभन के साथ-साथ कांग्रेस ने मोर्चा पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार के खिलाफ भी खोला है।

.....................

मुझ पर पैसे बांटने के जो आरोप कांग्रेस लगा रही है, वे निराधार हैं। उपचुनाव में कांग्रेस को भाजपा के खिलाफ कुछ नहीं मिल रहा है तो अब वह ऐसे ओछे हथकंड़ों पर उतर आई है। कांग्रेस की तरह भाजपा कभी भी पैसे बांटकर चुनाव नहीं जीतती है। जहां तक विश्राम गृह में जाने की बात है तो कोई भी नेता चायपान या फिर बॉशरूम का इस्तेमाल करने के लिए वहां जा सकता है।

-विपिन परमार, धर्मशाला उपचुनाव प्रभारी एवं स्वास्थ्य मंत्री

......................

शांता के सवाल पर दिया जवाब

प्रदेश प्रवक्ता दीपक राज शर्मा, पूर्व सांसद चंद्र कुमार, केवल सिह व कुलदीप पठानिया ने कहा कि कांग्रेस सरकार ने ही धर्मशाला में शीतकालीन प्रवास की रिवायत शुरू की थी। इसके बाद विधानसभा का शीतकालीन सत्र भी चलाया गया। कांग्रेस सरकार ने ही धर्मशाला को दूसरी राजधानी का दर्जा भी दिया था, लेकिन अब भाजपा नेता शांता कुमार ही दूसरी राजधानी पर सवाल उठा रहे हैं। कांग्रेस नेताओं ने कहा, शांता कुमार बताएं कि बतौर मुख्यमंत्री और सांसद वह कौन सी बड़ी योजना धर्मशाला या जिला कांगड़ा के लिए लाए हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस