-कांगड़ा एयरपोर्ट पर स्पाइस जेट के विमान में दिल्ली से आए 33 यात्री, इतने ही लौटे

-80 सीटर विमान में रखा गया शारीरिक दूरी का ध्यान दिनेश/प्रमोद, धर्मशाला/गगल

करीब दो माह बाद कांगड़ा एयरपोर्ट से हवाई सफर शुरू हुआ। सोमवार को गगल स्थित कांगड़ा एयरपोर्ट में दिल्ली से एक ही फ्लाइट स्पाइस जेट की आई। हालांकि यहां से रोजाना तीन फ्लाइट होनी थी। स्पाइस जेट का विमान सोमवार दोपहर करीब 12.20 बजे दिल्ली से 33 यात्रियों को लेकर पहुंचा। इसके बाद एयर इंडिया की फ्लाइट पहुंचनी थी लेकिन बताया गया है कि यात्रियों की बुकिंग न होने के कारण यह उड़ान नहीं हुई। स्पाइस जेट की उड़ान में अधिकतर यात्री कांगड़ा, हमीरपुर व मंडी जिलों के थे। इतने ही लोग दिल्ली भी गए। एयरपोर्ट पर आए यात्रियों की बकायदा स्क्रीनिंग की गई।

80 सीटर विमान में शारीरिक दूरी का भी ख्याल रखा गया। यात्रियों में अधिकतर ऐसे युवा थे जो निजी कंपनियों में नौकरी करते हैं। साथ ही विद्यार्थी भी थे। यात्रियों की कमी के कारण एयर इंडिया का विमान नहीं आ सका।

.....................

खुशी की बात है कि कांगड़ा से हवाई सेवा शुरू हो गई है। यात्रियों के स्वास्थ्य की जांच की गई है। उम्मीद है शीघ्र हवाई सेवाएं बढ़ेंगी।

-राकेश प्रजापति, उपायुक्त कांगड़ा

....................

यह था प्रस्तावित शेड्यूल

-11.05 बजे स्पाइस जेट के विमान ने दिल्ली से उड़ान भरकर 12.20 बजे कांगड़ा एयरपोर्ट पहुंचना था और 12.40 बजे दिल्ली लौटना था। यह सेवा सुचारू रही।

-1.20 बजे एयर इंडिया का विमान दिल्ली से 1.20 बजे पहुंचना था और दो बजे कांगड़ा से चडीगढ़ के लिए जाना था। फिर विमान ने कांगड़ा आना था और सायं चार बजे दिल्ली रवाना होना था लेकिन यह उड़ान रद रही।

...................

33 यात्रियों में से 26 जिला कांगड़ा के

दिल्ली से आए 33 लोगों में से दो बच्चे जबकि 31 व्यस्क हैं। 26 जिला कांगड़ा, दो हमीरपुर, ऊना, चंबा व मंडी जिलों से एक-एक व्यक्ति व दो बच्चे शामिल हैं।

........................

ये अधिकारी रहे मौजूद

कांगड़ा के एसडीएम जतिन लाल व डीएसपी सुनील राणा, एयरपोर्ट के निदेशक किशोर शर्मा व खंड स्वास्थ्य अधिकारी संजय भारद्वाज मौजूद रहे।

......................

पर्यटन विभाग के होटलों में रुकेंगे यात्री

दिल्ली से आए लोगों को ठहराने के लिए पर्यटन विभाग के तीन होटलों में व्यवस्था की गई है और उन्हें 50 फीसद छूट प्रदान की जाएगी।

.................

केस स्टडी 1

गुरुग्राम में रिश्तेदारों के पास रह रही थी

बेहतर सेवाएं हिमाचल में दी जा रही हैं। एयरपोर्ट पर थर्मल स्क्रीनिग हुई है। प्रदेश में पहुंचकर अच्छा लग रहा है। गुरुग्राम में रिश्तेदारों के पास रह रही थी। लॉकडाउन के कारण वहीं फंस गई थी। -रक्षिता, जोगेंद्रनगर

................

राज्य में पहुंचते ही मिली खुशी

अपने राज्य में पहुंचते ही खुशी महसूस हो रही है। बेंगलुरु में सॉफ्टवेयर इंजीनियर हूं और बेंगलुरु से दिल्ली तक फ्लाइट में पहुंचा और उसके बाद कांगड़ा एयरपोर्ट पहुंचा हूं।

अनुराग, कांगड़ा

...............

सरकार का आभार

दिल्ली में टेक मोहिद्रा कंपनी में काम करता हूं। तीन माह बाद घर पहुंचा हूं। दिल्ली में क्वार्टर में था। अब सरकार ने हवाई सेवा शुरू की है तो यहां पहुंचा हूं। सरकार का आभार।

शनदुल, कांगड़ा

.................

हालात सामान्य होने पर ही लौटूंगा

दिल्ली में मास्टर साइकोलॉजी का विद्यार्थी हूं। दशहरा को दिल्ली गया था और लॉकडाउन के कारण फंस गया था। जब हालात सामान्य होंगे तभी लौटूंगा।

-अविनाश कटवाल, योल

......................

विमान सेवा सिर्फ हिमाचलियों के लिए है। हिमाचली यात्रियों को ही ठहराने का प्रावधान किया है। अगर अन्य कोई आता है तो उसके ठहराने की कोई व्यवस्था नहीं है। अगर गलती से कोई अन्य राज्य का व्यक्ति यहां आता है और वह पॉजिटिव नहीं है तो भी उसे वापस भेज दिया जाएगा।

-जतिन लाल, एसडीएम कांगड़ा

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस