जागरण संवाददाता, चंबा : नर्सिग स्कूल चंबा में नवंबर के पहले सप्ताह तीसरा सत्र शुरू होने वाला है। इसके लिए प्रशिक्षुओं की काउंसलिग भी हो चुकी है। नर्सिग स्कूल में तीसरे सत्र के लिए तीस सीटें स्वीकृत थीं, लेकिन काउंसलिग के लिए मात्र 19 प्रशिक्षुओं ने ही आवेदन किया। इसके चलते नर्सिग स्कूल के तीसरे सत्र में 19 प्रशिक्षुओं की एडमिशन हुई है।

इस माह के अंत तक प्रशिक्षुओं की संख्या बढ़ने की उम्मीद है। तीसरा सत्र शुरू होते ही नर्सिग स्कूल में प्रशिक्षुओं की संख्या बढ़कर 74 हो जाएगी। पहले सत्र में 27 प्रशिक्षुओं ने दाखिला लिया था। दूसरे सत्र में 28 प्रशिक्षुओं की एडमिशन हुई, जबकि तीसरे सत्र में प्रशिक्षुओं की संख्या कम होकर 19 रह गई है। नर्सिग काउंसिल ऑफ इंडिया ने बेशक चंबा के नर्सिग स्कूल को तीसरा सत्र शुरू करने के लिए अनुमति दे दी हो, लेकिन अभी तक नर्सिग स्कूल में स्टाफ की कमी को पूरा नहीं किया गया है।

दो ट्यूटर के सहारे चल रहा स्कूल

नर्सिग प्रशिक्षुओं को पढ़ाने के लिए कम से कम नौ ट्यूटर होने चाहिए, लेकिन मौजूदा समय में दो ट्यूटर के सहारे प्रशिक्षुओं की पढ़ाई करवाई जा रही है। सरकार व स्वास्थ्य विभाग इसे लेकर गंभीरता नहीं दिखा रहे हैं जिसका असर प्रशिक्षुओं की पढ़ाई पर भी पड़ सकता है, क्योंकि तीसरे सत्र में प्रशिक्षुओं की संख्या बढ़ जाएगी। ट्यूटर के अलावा नर्सिग स्कूल में अन्य स्टाफ की भी कमी है। रिक्त पदों को भरने के लिए प्रबंधन कई बार सरकार व विभाग को अवगत करवा चुका है, लेकिन अभी तक इस दिशा में कोई भी कार्यवाही होती नहीं दिख रही है। नर्सिग स्कूल की प्रिसिपल गीता विज ने बताया कि स्कूल में तीसरे सत्र को शुरू करने की सभी तैयारियां पूरी हो चुकी हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप