़संवाद सहयोगी, डलहौजी : देवी के आठवें स्वरूप महागौरी को समर्पित आठवें नवरात्र पर मंगलवार को स्वयंभू प्रकट मां भद्रकाली भलेई के दरबार में 1200 श्रद्धालुओं ने शीश नवाकर मां भगवती का आशीर्वाद ग्रहण किया। मंदिर में सुबह से शाम तक भक्तों की कतारें लगी रहीं। भक्तों ने कोरोना से बचाव के नियमों का पालन करते हुए मां भलेई के गर्भगृह के बाहर से ही दर्शन किए।

अष्टमी के पावन अवसर पर मंदिर में मुख्य पुजारी डा. लोकी नंद शर्मा की देखरेख में चल रहा दुर्गा सप्तशती का पाठ भी संपूर्ण हुआ। पाठ के संपूर्ण होने के मौके पर मंदिर की यज्ञशाला में हवन किया गया। सुबह छह बजे आरंभ हुआ हवन 9.30 बजे पूर्ण हुआ। हवन में डलहौजी की विधायक आशा कुमारी ने मंदिर प्रबंधक समिति के अध्यक्ष कमल ठाकुर व उनकी पत्नी मीना ठाकुर तथा सीमित संख्या में शामिल समिति सदस्यों के साथ हवन की पूर्ण आहूति डाली।

विधायक व समिति के पदाधिकारियों ने मां भलेई से विश्व शांति, सभी के कल्याण व कोरोना महामारी से मुक्ति की प्रार्थना भी की। मंदिर में शीश नवाने के उपरांत विधायक आशा कुमारी को समिति के अध्यक्ष कमल ठाकुर ने माता की चुनरी भेंटकर सम्मानित किया। उधर अष्टमी के पावन मौके पर मंदिर में भारी संख्या में भक्तों की आमद से भलेई में मंगलवार को खूब रौनक रही। यहां के बाजार के दुकानदारों का कामकाज भी खूब अच्छा रहा।

मंदिर पहुंचे भक्तों ने स्थानीय बाजार में माता की चुनरी, तस्वीरों व प्रसाद सहित बच्चों के खिलौने इत्यादि की खूब खरीदारी की। बुधवार को रामनवमी के पावन अवसर पर भी मंदिर में सैकड़ों भक्तों के उमड़ने की उम्मीद है। मंदिर प्रबंधक समिति के अध्यक्ष कमल ठाकुर ने बताया कि नवरात्र के दौरान कोरोना से बचाव के लिए सरकारी की ओर से जारी एसओपी का पूर्ण पालन किया जा रहा है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021