संवाद सहयोगी, चंबा : स्कूल प्रवक्ता संघ चंबा मांगों की अनदेखी पर खफा है। कई मांगों पर तो विचार भी न होने से इस वर्ग में रोष की लहर दौड़ने लगी है। संघ के अध्यक्ष दीप सिंह खन्ना बताते हैं कि स्कूल प्रवक्ता से प्रधानाचार्य पदोन्नति में प्रवक्ताओं का पदोन्नति कोटा 50 फीसद से बढ़ाकर 60 फीसद किया जाए। कोटा बढ़ाने के लिए 23 नवंबर, 2018 को राज्यस्तरीय प्रवक्ता सम्मेलन में इस पर घोषणा की गई थी।

उन्होंने कहा कि पीटीए अनुबंधित व लेफ्ट आउट पैरा अध्यापकों को अबिलंब नियमित किया जाए। तीन वर्ष के अनुबंध के बाद नियमित होने वाले सभी प्रवक्ताओं को वेतन आयोग द्वारा अनुमोदित इनिशियल वेतनमान 16290 दिया जाए, क्योंकि इनको नियमितकरण के समय वेतनमान 14500 दिया जा रहा है, जो काफी कम है। स्कूल प्रवक्ता (न्यू) को दिलाई गई छठी से आठवीं तक पढ़ाने की शर्त समाप्त की जाए। वर्ष 2003 में पूर्व नियुक्त अनुबंधित प्रवक्ताओं को सर्वोच्च न्यायालय के निर्णयानुसार पेंशन व जीपीएफ प्रणाली में शामिल किया जाए। उपनिदेशक कार्यालय में विज्ञान पर्यवेक्षक का पद प्रवक्ता से भरा जाए। सरकारी स्कूलों में आवंटित की जाने वाली निशुल्क वर्दी योजना के तहत अभी चंबा जिला के कई उपमंडलों में वर्दी नहीं मिली है। जबकि, शैक्षणिक सत्र समाप्त होने वाला है। इसलिए जल्द वर्दी आवंटित की जाए।

वर्तमान में बीआरसी कार्यालयों में असमयिक कार्यशालाएं हो रही हैं। इससे विद्यालयों में विद्यार्थियों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। संघ अनावश्यक कार्यशालाओं का विरोध करता है। कार्यशालाओं पर खर्च किए जाने वाले धन को स्कूलों की अधोसंरचना के विकास पर व्यय किया जाए। जिलाध्यक्ष दीप सिंह खन्ना, महासचिव राजेश ठाकुर, वरिष्ठ उपाध्यक्ष पंकज कुमार, वित सचिव ज्ञान भारद्वाज, राज्य संचालन समिति के सदस्य शौकत अली, राजेश शर्मा, राज्य वरिष्ठ उपाध्यक्ष सूरज बाली, राज्य कार्यकारिणी सदस्य सुरजीत भारद्वाज, नीम राज, जगजीत, राज कुमार, करता सिंह, हेम राज, कुलदीप चौहान राज्य के विधिक सलाहकार राजदीन तथा लेखराज ने उक्त मांगों को जल्द से जल्द पूरा करने के लिए सरकार से आग्रह किया है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस