-बनीखेत स्कूल की ओर से एनएचपीसी से सीएसआर के तहत की जाएगी कंप्यूटरों की मांग संवाद सहयोगी, डलहौजी : राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय बनीखेत की विद्यालय प्रबंधन समिति की बैठक वीरवार को विद्यालय के प्रधानाचार्य जेपी ठाकुर की अध्यक्षता में हुई। बैठक के दौरान विद्यालय के विकास व विद्यार्थियों के लिए जुटाई जाने वाली सुविधाओं के बारे में जहां चर्चा की गई, वहीं विद्यालय की कंप्यूटर लैब में खराब पड़े कंप्यूटरों की मरम्मत करने का भी निर्णय लिया गया।

विद्यालय में पूर्व एसएमसी की ओर से रखे गए एक शिक्षक के मानदेय व एसएमसी के तहत रखे गए सफाई कर्मचारी के मानदेय के लिए विद्यालय में नौवीं से जमा दो तक के बच्चों से लिए जाने वाले एसएमसी शुल्क का भी पुर्ननिर्धारण किया गया, जिसके तहत विद्यालय जिन अभिभावकों के दो अथवा दो से अधिक बच्चे शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं उनसे अब पूर्व में तय एसएमसी शुल्क का केवल पचास प्रतिशत शुल्क ही लिया जाएगा, ताकि अभिभावकों पर आर्थिक बोझ न पड़े। एसएमसी ने विद्यालय में छोटे मोटे मरम्मत कार्यो, खेल सामान सहित अन्य आवश्यक सामान की खरीद सहित खराब पड़े कंप्यूटर की मरम्मत व विद्यालय के प्रवेश द्वार पर सीसीटीवी कैमरा लगाने व अन्य खराब सीसीटीवी कैमरों की मरम्मत का भी निर्णय लिया। यह तय किया गया कि शिक्षा खंड बनीखेत के इस विद्यालय को एक माडल विद्यालय के तौर पर विकसित करने के हरसंभव प्रयास किए जाएंगे। इसके अलावा बैठक में विद्यालय के विकास संबंधी अन्य कई अहम विषयों पर भी चर्चा की गई। विद्यालय के एसएमसी अध्यक्ष विशाल ने बताया कि विद्यालय में अध्ययनरत विद्यार्थियों के उपयोग के लिए एनएचपीसी क्षेत्रीय कार्यालय बनीखेत से निगम की सीएसआर योजना के तहत नए कंप्यूटर उपलब्ध करवाने की भी मांग रखी जाएगी, जबकि एसएमसी सदस्यों व अभिभावकों के मार्गदर्शन से विद्यालय में विद्यार्थियों के लिए अन्य सुविधाएं जुटाने के भी हरसंभव प्रयास किए जाएंगे। बैठक में पुखरी पंचायत के उपप्रधान विशाल टंडन, बीआरसीसी सुरेंद्र पाल, अध्यापक राकेश सोनी, बबीता त्रेहन, बरिदर कौर, धनपत ठाकुर, सतीश कुमार, अजय कुमार, बालम, सुरेंद्र कुमार, अधीक्षक सुरेंद्र पठानिया व मीरा देवी, एसएमसी सदस्य पूनम देवी, सुनीता देवी, चितो देवी, नीलम कुमारी, पार्थ शर्मा व गुरमेल सिंह सहित अन्य मौजूद थे।

Edited By: Jagran