संवाद सहयोगी, चंबा : स्कूल के खेल मैदान में बच्चे अपने भविष्य की नींव मजबूत करते हैं लेकिन बैरागढ़ स्कूल के खेल मैदान पर एक व्यक्ति द्वारा अवैध रूप से कब्जा कर लिया गया है, जिससे बच्चों को खेलने में दिक्कतों को सामना करना पड़ रहा है।

यह शिकायत स्थानीय लोगों ने उपायुक्त से की। ग्राम पंचायत बैरागढ़ के ग्रामीणों का प्रतिनिधिमंडल मंगलवार को पंचायत प्रधान भिलखू देवी की अगुआई में उपायुक्त डीसी राणा से मिला। ग्रामीण लेखराज, ओम प्रकाश, भाग सिंह, मुकेश कुमार, सुनील, मन सिंह, महिंद्र, भाग सिंह ने उपायुक्त डीसी राणा से कहा कि राजकीय आदर्श वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय बैरागढ़ के खेल मैदान में एक व्यक्ति द्वारा अवैध निर्माण किया जा रहा है। इतना ही नहीं उक्त व्यक्ति ने कई साल से इस जमीन पर अवैध रूप से लकड़ी काटने का आरा, आटा चक्की तथा कोहलू चला रखा है। हैरानी की बात यह है कि उक्त व्यक्ति बैरागढ़ पंचायत का मूल निवासी भी नहीं है।

गुवाड़ी पंचायत से आकर यहां अवैध रूप से अपना कार्य चला रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि वे उक्त समस्या को लेकर कई बार स्थानीय प्रशासन को भी सूचित कर चुके हैं लेकिन प्रशासन की ओर से अभी तक कोई भी कड़ी कार्रवाई अमल में नहीं लाई गई है। जिस कारण ग्रामीणों को करीब सौ किलोमीटर का सफर कर समस्या का हल करवाने को लेकर जिला मुख्यालय पहुंचना पड़ा।

पंचायत प्रधान भिलखु देवी ने कहा कि वर्ष 1983 से यहां विद्यालय चल रहा है। तब से यह ग्राउंड विद्यालय के छात्रों के द्वारा अपने खेलने के लिए बनाया गया है, जिसकी बदौलत पिछले 15 साल से बैरागढ़ विद्यालय के छात्र राष्ट्रीय स्तर तक क्षेत्र का नाम चमका चुके हैं लेकिन कोरोना काल में खेल गतिविधियों पर रोक लगने के कारण उक्त व्यक्ति ने इस मैदान पर कब्जा कर लिया तथा मैदान को क्षति पहुंचा दी है, जो सहन करने योग्य नहीं है।

उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि उक्त व्यक्ति के खिलाफ समय रहते उचित कार्रवाई नहीं की गई तो ग्रामीण विरोध प्रदर्शन करने से भी पीछे नहीं हटेंगे। इस मसले पर उपायुक्त ने कहा कि उक्त मामले की जांच करवाने के बाद आगामी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

Edited By: Jagran