संवाद सहयोगी, चंबा : चंबा में कोरोना संकट फिर गंभीर होता जा रहा है। चिकित्सा विशेषज्ञ कोरोना की दूसरी लहर को और भी घातक बता रहे हैं। ऐसे समय में सिर्फ सावधानी ही बचाव का मूल मंत्र हैं लेकिन चंबा में लोग कोरोना को लेकर जारी नियमों का भूल रहे हैं। कोरोना को हल्के में ले रहे ये लोग बस स्टैंड, बैंक, अस्पताल व बाजारों में बिना किसी भय के भीड़ जुटा रहे हैं। सरकार और प्रशासन की ओर से बार-बार कहा जा रहा है कि नियमों का सख्ती से पालन करो। कारोना को पैर पसारने का मौका मत दो लेकिन कई लोग शारीरिक दूरी के नियम का पालन नहीं कर रहे हैं जिसके गंभीर परिणाम हो सकते हैं।

अगर भीड़ के बीच कोई एक व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाया जाता है तो वह वहां पर मौजूद लोगों के लिए भी खतरा बन सकता है। शनिवार को चंबा बस स्टैंड में जुटी लोगों की भीड़ देख ऐसा लग रहा था मानों ये लोग सरकार की ओर से जारी दिशानिर्देश से पूरी तरह से अनभिज्ञ हैं। भीड़ के बीच बैठे कई लोगों ने तो सही तरह से मास्क भी नहीं पहना था। बारिश के बीच गंतव्य के लिए जाने वाले लोगों को बस के इंतजार में बस स्टैंड में इकट्ठे होना भले ही मजबूरी हो सकता है लेकिन भीड़ के बीच लोग सही ढंग से मास्क तो पहन सकते हैं। यह मास्क आपके लिए सुरक्षा कवच का कार्य करेगा।

-------------

कोरोना की दूसरी लहर काफी घातक है। ऐसे में लोग इसे हल्के में न लें। घर से बाहर कदम रखते ही कोरोना नियमों का पूरी तरह से पालन करें। मास्क सही ढंग से पहनने के साथ सार्वजनिक स्थानों पर शारीरिक दूरी का पालन करें ताकि संक्रमण के खतरे को टाला जा सके।

-जालम भारद्वाज, जिला स्वास्थ्य अधिकारी चंबा।

---

कोरोना नियमों का सख्ती से पालन करने को लेकर पुलिस लोगों को हिदायत दे रही है। बस स्टैंड, अस्पताल व सार्वजनिक स्थानों पर होर्डिग व बैनर के माध्यम से कोरोना संक्रमण व इसके नियमों को लेकर लोगों को जागरूक किया जा रहा है। अगर कोई नियम तोड़ता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

-एस. अरुल कुमार, पुलिस अधीक्षक चंबा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप